nationl news

Latest breaking news hindi-सेल्फी के चक्कर में व्यस्त माता पिता इंडिया गेट से तीसरे दिन गायब हो रहे हैं बच्चे

न्ई दिल्ली -राष्ट्रीय राजधानी नई दिल्ली में इंडिया गेट पर सेल्फी के चक्कर में माता – पिता इस कदर व्यस्त हो जा रहे हैं कि बच्चे तीसरे दिन गायब हो रहे हैं पुलिस द्वारा जानकारी मिली है कि यहाँ पहुंचते ही माता पिता व बच्चों की केयर टेकर सेल्फी लेने और तस्वीरें खिंचवाने में बीज़ी हो जाते हैं इसी दौरान बच्चे बैरिकेड से बाहर निकल जाते हैं बैरिकेड से बाहर निकलें बच्चों को ढूंढना काफी मुश्किल हो जाता है इन्हें ढूंढने के लिए पुलिस को जमकर मशक्कत करनी पड़ती है तब जाकर उसे सफलता मिलती है|

खास आपके लिए 

कोचिंग के बहाने महिलाओं की अश्लील वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करने वाले शिक्षक को कोर्ट ने भेजा जेल|

iqqo neo 9 pro पर गजब का डिस्काउंट 12 gb रैम 256 gb स्टोरेज सहित उच्च गति के प्रोसेसर से लैस कीमत जानिये|

अब तक इतने हो चुके हैं गायब 

नई दिल्ली जिले के वरीष्ठ अधिकारियों के द्वारा जानकारी मिली कि इंडिया गेट पर सुबह दोपहर और शाम को लोग घूमने के लिए आते हैं रात के समय इंडिया गेट और राजपथ लॉन में लोगों की संख्या जमकर बढ़ जाती है 1 जनवरी से लेकर 31 मार्च तक इंडिया गेट31 बच्चे गायब हुए हैं इनमें से ज्यादातर बच्चों की उम्र 2 से आठ वर्ष तक की थी हालांकि गनीमत यह रही कि लापता हुए सभी बच्चों को पुलिस ने कुछ ही घंटों में ढूंढ निकाला जिससे पता चलता है कि माता-पिता की लापरवाही से ही ये बच्चे गायब हो रहे हैं|

इनके पीछे कोई गिरोह नहीं काम कर रहा है सिर्फ 1 दिन तीन वर्षीय बच्ची को ढूंढने में करीब 6 घंटे लगे थे बच्ची इंडिया गेट से बैरिकेड पार कर दूर चली गयी थी बच्ची को इतना याद था कि वह मटका पीर लोनी की रहने वाली है पुलिस ने स्थानीय पुलिस की सहायता ली और बच्ची की दादी को ढूंढ़ निकाला नई दिल्ली जिला उपायुक्त पुलिस दिनेश ने पुलिसकर्मियों को यहाँ आने वाले लोगों को जागरूक करने के भी निर्देश दिए हैं साथ ही बच्चा गायब होते ही तुरंत कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं ताकि किसी को किसी भी प्रकार की समस्या ना हो|

 technology का भी हो रहा है इस्तेमाल

इंडिया गेट पर बच्चों को ढूंढने के लिए विशेष रूप से तीन वॉट्सऐप ग्रुप तैयार किए गए हैं इसमें से एक वॉट्सऐप ग्रुप कर्तव्य पथ थाने से वहाँ तैनात पुलिसकर्मियों का हैं इसके अतिरिक्त यहाँ तैनात आर्मी वेल्फेयर वाले और साइ सुरक्षा गार्ड ने भी ग्रुप बना रखी है किसी भी बच्चे के लापता होने की सूचना मिलते ही तीनों ग्रुप में फोटो और जानकारी शेयर कर दी जाती है जिसके बाद में सुरक्षा बल तत्काल ऐक्टिव हो जाते हैंऔर बच्चों को ढूंढ लिया जाता है|