breking news hindi

Bjp manifesto 2024-भाजपा के घोषणापत्र पर विपक्ष का ‘जुमला पत्र’ तंज, राहुल ने PM मोदी पर साधा निशाना 

पीटीआई, नई दिल्ली-कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव के लिए रविवार को जारी भाजपा के घोषणापत्र को बयानबाजी से भरा जुमला पत्र करार दिया। कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर नौकरियां देने, किसानों की आय दोगुनी करने और मंहगाई से निपटने के वादे को पूरा नहीं करने का भी आरोप लगाया। कांग्रेस ने कहा कि वह अब 2047 के बारे में बात करके मुद्दा ही बदल दे रहे हैं।

खास आपके लिये 

सलमान खान के घर के बाहर फायरिंग मामले में मुकदमा हुआ दर्ज हमलावारों की तस्वीरें भी आई सामने

राहुल गांधी ने कहा मोदी की गारंटी ‘जुमलों की वारंटी’

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि भाजपा के घोषणापत्र और पीएम मोदी के भाषण से महंगाई और बेरोजगारी गायब है। लोगों के जीवन से जुड़े सबसे अहम मुद्दों पर भाजपा चर्चा तक करना नहीं चाहती। उन्होंने एक्स पर पोस्ट किया, आइएनडीआइए की योजना बिल्कुल स्पष्ट है-30 लाख पदों पर भर्ती और हर शिक्षित युवा को एक लाख की पक्की नौकरी।

अयोध्या के रामलला मंदिर में अब नहीं हो पाएंगे दर्शन जानिए वजह

नौकरी को लेकर कसा तंज 

युवा इस बार मोदी के झांसे में नहीं आने वाले। अब वे कांग्रेस का हाथ मजबूत कर देश में रोजगार क्रांति लाएंगे। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा कि मोदी की गारंटी ‘जुमलों की वारंटी’ है, क्योंकि वह पूर्व में किए गए वादों को पूरा करने में नाकाम रहे हैं। उन्होंने एक्स पर पोस्ट किया-पुरानी गारंटियों के लिए कोई जवाबदेही नहीं, कोरी बयानबाजी! खरगे ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री मोदी ने अपने कार्यकाल के दौरान कोई ऐसा बड़ा काम नहीं किया, जिससे देश की जनता को फायदा हो। युवा नौकरी मांग रहे हैं।

भाजपा के ‘संकल्प पत्र’ को माफीनामा कहा जाना चाहिए

महंगाई के कारण खाद्य पदार्थों की कीमतें आसमान छू रही हैं, लेकिन भाजपा के घोषणापत्र में इस पर कोई बात नहीं की गई है।कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने संवाददाताओं से बात करते हुए कहा कि 2014 के अपने घोषणापत्र में मोदी ने एक विशेष कार्यबल बनाकर काला धन वापस लाने का वादा किया था, लेकिन इसके बजाय आए चुनावी बांड।

अंग्रेजी नहीं आने के कारण तीन महीने में ही टूट गई लव मैरिज  साली को लेकर जिजा  हुआ फरार|

भाजपा ने पूर्वोत्तर में कानून-व्यवस्था को मजबूत करने का भी वादा किया था। लेकिन, आज मणिपुर में हिंसा जारी है और प्रधानमंत्री मोदी चुप्पी साधे हुए हैं। राम मंदिर मुद्दे के बारे में पूछे जाने पर खेड़ा ने कहा कि राम आस्था का मुद्दा हैं, राजनीति का नहीं। हम भाजपा को उन्हें राजनीति में घसीटने की इजाजत नहीं देंगे।

भाजपा के ‘संकल्प पत्र’ नाम पर कड़ी आपत्ति

खेड़ा ने कहा कि हमें भाजपा के ‘संकल्प पत्र’ नाम पर कड़ी आपत्ति है। इसके बदले इसे माफीनामा कहा जाना चाहिए। मोदी को दलितों, किसानों, युवाओं और आदिवासियों से माफी मांगनी चाहिए। कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी कहा कि भाजपा का संकल्प पत्र सिर्फ एक दिखावा है। उनका असली घोषणापत्र है-संविधान बदलो पत्र। गली-गली, राज्य दर राज्य भाजपा के नेता और प्रत्याशी संविधान बदलो पत्र लेकर घूम रहे हैं और भाषणों में बाबा साहेब के संविधान को बदलने की बात कर रहे हैं।