CREDIT CARD

How to save money for future-जानिये एक व्यक्ति  कितने क्रेडिट कार्ड रख सकता है और क्या है इसे मैनेज करने का तरीका|

How to save money for future-भारत में एक व्यक्ति कितने क्रेडिट कार्ड रख सकता है कि उसके ऊपर किसी भी प्रकार की कोई कार्रवाई न हो एवं रिज़र्व बैंक ऑफ इंडिया का इसे लेकर क्या नियम हैं इस विषय में हम आपको बताएंगे दरअसल रिज़र्व बैंक ऑफ इंडिया का इस विषय में कोई नियम नहीं है कि एक व्यक्ति को कितने क्रेडिट कार्ड रखने चाहिए कोई भी व्यक्ति जितना क्रेडिट कार्ड चाहिए उतना क्रेडिट कार्ड रख सकता है लेकिनएक आदर्श नंबर क्या है जितना क्रेडिट कार्ड आपको रखना चाहिए आइए आपको बताते हैं|

आपके लिये खास 

itell s 24 review-10000 से काम कीमत में 108 MP कैमरा 5000 mah बैटरी से लैस स्मार्ट फोन जानिये डिटेल|

आपके पास कितने क्रेडिट कार्ड होने चाहिये 

सबसे पहले यहाँ पर आप ये बात तो अपने दिमाग से निकाल ही देगी क्रेडिट कार्ड से आपको फ्री में पैसा मिलता है क्रेडिट कार्ड लोन देने का बैंक का एक माध्यम होता है जो की एक कार्ड के रूप में वो आपको देना है क्रेडिट कार्ड से आप जितना भी पैसा लेंगे उसको एक अच्छी खासी इन्ट्रेस्ट से आपको बाद में चुकाना होगा इसलिए ये जरूरी है कि कम से कम आपके पास दो ही कार्ड क्योंकि ज्यादा कार्ड रखने से कोई मतलब नहीं हैआपको उस कार्ड को मैनेज करना आना चाहिए|

खास आपके लिये 

25,000 सस्ता हुआ samsung का ये AI कैमरा  फिचर ताकतवर प्रोसेसर से लैस स्मार्टफोन जानिये नई कीमत|

सही तरीके से मैनेज करने की जरूरत

आपके पास जीतने भी क्रेडिट कार्ड है वो सभी क्रेडिट कार्ड को सही तरीके से मैनेज करने की जरूरत है आपको ये देखना है की आपका क्रेडिट स्कोर कितना है बैंक आपकी जो क्रेडिट है उसको कम तो नहीं कर रहा है क्योंकि अगर आपका क्रेडिट कार्ड का पेमेंट ड्यू है और आपने उसे सही समय पर नहीं चुकाया तो आपका क्रेडिट स्कोर 50 से 100 नंबर तक इफेक्ट होता है|

अगर आपने और भी ज्यादा नहीं छुपाया है तो ये 700 से 800 नंबर तक भी कम हो सकता है इसके अलावा एक मोटी ब्याज की रकम आपके ऊपर लगाई जाती है वो अलग है इसलिए आप अपने क्रेडिट कार्ड की डिटेल्स को हमेशा अपडेट करते रहेंगे देखते रहे की आपका क्रेडिट स्कोर कितना है और क्रेडिट कार्ड जो बकाया है वो कितना है और कोशिश करें की समय से पहले आप अपना लोन चुका दें इसी में आपकी भलाई है|

क्रेडिट कार्ड जरूरत न कि शौक

कुछ लोग होते हैं जो कि क्रेडिट कार्ड से अंधाधुंध शॉपिंग करते हैं और जबरदस्त तरीके से खर्चा करते हैं लेकिन जब क्रेडिट कार्ड का बिल आता है तब उनकी हालत खराब हो जाती है ऐसी स्थिति से बचने के लिए आपको क्रेडिट कार्ड को अपनी जरूरत बनाना होगा ना की शौक  जब तक  अत्यंत आपातकालीन परिस्थिति  ना आ जाए ऐसी परिस्थिति में ही आप क्रेडिट कार्ड का उपयोग करें ना कि शौक वश  आप क्रेडिट कार्ड का उपयोग करें ऐसे में आप कर्ज के दलदल में फंस जाएंगे और बैंक आपसे यही चाहता है कि आप कर्जे के दलदल में फंस जाए जिससे की बैंक आपसे एक मोटा इंटरेस्ट कमा सकें|