elvish yadaw latest news

ED files case against Elvish Yadav-एल्विश यादव पर टूटा मुश्किलों का पहाड़ ईडी ने दर्ज किया मुकदमा बड़ी कार्रवाई की तैयारी

ED files case against Elvish Yadav- वायरल की लहर पर सवार होकर एल्विश यादव ने अपना करियर तो बना लिया लेकिन अब उनके ऊपर मुश्किलों का पहाड़ टूट पड़ा है गौरतलब है कि बिग बॉस फेम यादव की मुश्किलें अब कम होती हुई नजर नहीं आ रही है इसमें फंसने के बाद अब प्रवर्तन निदेशालय का शिकंजा यादव पर कसता जा रहा है ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग के तहत मुकदमा भी दर्ज कर लिया है सूत्र बताते हैं कि ईडी का लखनऊ ज़ोनल ऑफिस जल्द ही एल्विश यादव को पूछ्ताछ के लिए बुला सकता है मामला स्नेक वेनम रेव पार्टी से जुड़ा हुआ है जिसे लेकर नोएडा पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया था|

ये भी पढ़ें 

Latest breaking news in mp-बॉयफ्रेंड को खुश रहने की दुआ देकर होटल रिसेपनिस्ट ने की आत्महत्या

नोएडा पुलिस ने दर्ज किया था केस 

गौरतलब है कि 17 मार्च को स्नेक वेनम मामले में बड़ी कार्रवाई करते हुए नोएडा पुलिस ने एल्विश  यादव को गिरफ्तार कर लिया था जिसके बाद एल्विश  यादव को न्यायालय के द्वारा 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजा गया था हालांकि इसके पांच दिनों के बाद ही एल्विश यादव को जमानत भी मिल गई थी ईडी के एक वरीष्ठ अधिकारी के द्वारा पुष्टि करते हुए बताया गया की लखनऊ यूनिट ने स्नैक वेनम रैकेट में शामिल बड़ी रकम को देखते हुए एल्विस और दूसरे लोगों के खिलाफ़ धन शोधन निवारण अधिनियम की अलग अलग धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है उन्होंने यह कहा की टीम यादव और पुराने मामले में शामिल दूसरे लोगों से भी गहन पूछ्ताछ कर सकती है|

अश्लील वीडियो का जखीरा लीक होने के बाद प्रजव्वल को 24 घंटे में गिरफ्तार करने के आदेश रेप का मुकदमा दर्ज 

बड़ी कार्यवाही की तैयारी 

नोएडा पुलिस के द्वारा इस मामले में एफआईआर दर्ज करने के लगभग छह महीने बाद 6 अप्रैल को एल्विश  और सात अन्य के खिलाफ़ वन्यजीव संरक्षण अधिनियम के तहत 1200 पेज की चार्जशीट भी दायर की गई थी चार्जशीट में यह बताया गया था की कैसे सांपों की तस्करी की जाती थी और पार्टियों में उनके जहर का इस्तेमाल नशे के लिए किया जाता था समाचार एजेंसी के मुताबिक यह कहा गया था कि एल्विश  सांप संचालकों के संपर्क में लगातार था इसके अतिरिक्त पार्टी वाली जगह से एक जहरीला सांप और 20 किलो लीटर करैत सांप का जहर भी बरामद किया गया था एल्विश  ने उनके ऊपर लगे आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए उन्हें निराधार और फर्जी बताया था लेकिन जांच एजेंसियों को लगातार इस मामले में बड़े सबूत मिलते गए और रवीश यादव के ऊपर मुकदमा दर्ज होता गया|