google

Google search engine monopoly-दुनिया में नंबर वन बने रहने के लिए गूगल हर साल खर्च करता है 20 अरब अमेरिकी डॉलर

वाशिंगटन-दुनिया में आज के समय में ऐसा कोई सर्च इंजन बना ही नहीं है जो गूगल को पीछे छोड़कर नंबर वन बन सके गूगल अभी नंबर वन है और आने वाले समय में लंबे समय तक नंबर वन रहेगा लेकिन इसके लिये  गूगल हर साल 20 अरब अमेरिकी डॉलर से अधिक खर्च करता है|

विशेष आपके लिये 

SEBI gives notice to 7 companies of Gautam Adani-गौतम अडानी की 7 कंपनियों को सेबी ने दिया नोटिस जनीये पूरा मामला 

बेहतरीन सर्च गुणवत्ता महत्वपूर्ण 

 उच्च स्तरीय अविश्वास मामले में अमेरिकी न्याय विभाग के वकीलों के द्वारा अपनी समापन दलील में यह दावा किया गया कि गूगल के लिए हर साल 20 अरब डॉलर से अधिक अमेरिकी डॉलर खर्च करता है दूसरी तरफ गूगल ने यह ज़ोर देकर कहा कि वह अपने उपभोक्ताओं और यूजर्स के द्वारा सर्च की गई जानकारी का बेहतरीन और तुरंत परिणाम उपलब्ध करवाता है यही उसकी सर्वव्यापकता ,लोकप्रियता ,उत्कृष्टता का मुख्य कारण है उच्चस्तरीय विश्वास मुकदमे में दोनों पक्षों की दलीलें शुक्रवार को पूरी हो गई है अब इस मामले में फैसला सुनाया जाएगा}

Latest breking news in mp-Csc संचालक ने बैंक में पैसे जमा करने के नाम पर की 5 लाख की धोखा-धड़ी पुलिस ने आरोपी को किया गिरफ्तार

भारतवंशी जज कर रहे हैं मुकदमे की सुनवाई

गूगल के एकाधिकार मामले की सुनवाई अमेरिकी जिला जज अमित मेहता जो कि भारतीय मूल के हैं भारतवंशी जज अमित मेहता अब यह तय करेंगे कि क्या गूगल ने सर्च इंजन एकाधिकार को हासिल करने के लिए उचित नियमों का पालन किया है या नहीं|

Delhi highcourt latest news-यौन क्षमता बढ़ाने वाली दवा viagra पर किसका अधिकार हाईकोर्ट ने सुनाया फैसला जानिये  आप भी

गूगल खर्च करता है इतना पैसा 

वह बीते दो दशकों का सबसे बड़ा अविश्वास मुकदमा भी है यह मुकदमा इस बात के चारों तरफ घूमता रहा है कि एप्पल जैसी कंपनियों के साथ सेल फ़ोन और कंप्यूटर पर प्री लोडेड डिफ़ॉल्ट सर्च इंजन बनाने के करार से गूगल को कितना फायदा होता है 10 हफ्ते से चली अधिक सुनवाई के दौरान जहाँ इस बात के व्यापक सबूत मिले कि गूगल ऐसे करारों पर सालाना 20 अरब डॉलर रुपए से ज्यादा खर्च करता है वहीं अमेरिकी न्याय विभाग के द्वारा यह भी दावा किया गया की इतनी बड़ी रकम या दर्शाती है कि गूगल के लिए डिफ़ॉल्ट सर्च इंजन बनना कितना जरूरी है उनकी यह मत महत्वाकांक्षा बाजार में एकाधिकार हासिल करने का एकमात्र साधन है हालांकि गूगल ने अपनी बेहतरीन सेवा को इसका आधार बनाया|

गूगल के वकील ने क्या कहा?

गूगल की तरफ से पेश वकील के द्वारा यह दावा किया गया उनकी सेवाएं काफी बेहतर है किसी भी चर्च पर वह सबसे बेहतर और सटीक जब आप उपलब्ध कराते हैं यही कारण है कि उपभोक्ता गूगल को चुनते है गूगल ने यह कहा कि अगर उन्हें किसी अन्य सर्च इंजन पर हमसे बेहतर सेवाएं मिलेंगी तो निश्चित ही वह उसे चुनेंगे लेकिन ऐसा होता नहीं है यही कारण है  कि वर्तमान परिस्थितियों में गूगल को टक्कर देने वाला कोई भी सर्च इंजन मौजूद नहीं है और आने वाले समय में होगा भी नहीं|