बार-बार और कम समय के लिये गुस्सा दिल को पहुंचाता है भयानक नुकसान 40 मीनट तक नसों को कर देता है ब्लॉक  

नई दिल्ली -अगर आपको भी बार-बार किसी बात को लेकर गुस्सा आता है और कम समय तक आप विचलित हो जाते हैं या ज्यादा समय तक वह गुस्सा आपके अंदर रहता है तो आपको काफी ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है क्योंकि आप जानबूझकर अपने शरीर में ऑक्सीजन पहुंचाने वाली रक्त वाहिकाओं को ब्लॉक कर रहे हैं क्योंकि एक रिसर्च में यह सामने आया है कि मनुष्य को आने वाला महज 8 मिनट का गुस्सा 40 मिनट तक उसकी नसों को प्रभावित करके रखता है या शरीर में ऑक्सीजन पहुंचाने वाली रक्त वाहिकाओं को संकट बना देता है और पहले से रोक देता है जिससे कि आपके शरीर में पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन का प्रवाह भी नहीं हो पाता है|

खास आपके लिए 

Ac price increase in 2024-गर्मियों में AC व्यापारियों की हुई मौज पांच फीसदी तक बढ़ गई मांग कंपनियां नहीं कर पा रही है आपूर्ति

कोलंबिया विश्वविद्यालय  में की गई है रिसर्च 

जिस रिसर्च के बारे में आप ऊप पढ़ रहे हैं यह रिसर्च किसी ऐसे वैसे संस्था में नहीं की गई है बल्कि कोलंबिया विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं के द्वारा की गई है जिसमें की 280 वयस्कों को शामिल किया गया था जिन्हें 8 मिनट के लिए गुस्से या फिर उदासी वाली घटनाओं को याद करने के लिए कहा गया फिर उसी दौरान यह अध्ययन किया गया जिसमें यह परिणाम सामने आया कि गुस्सा चिंता और उदासी समेत नकारात्मक भावनाओं से दिल के रोग का जोखिम काफी ज्यादा बढ़ जाता है|

आपके लिये विशेष 

Google search engine monopoly-दुनिया में नंबर वन बने रहने के लिए गूगल हर साल खर्च करता है 20 अरब अमेरिकी डॉलर

इस शोध के निष्कर्ष से यह पता चला कि क्रोध ,उदासी या चिंता रक्त वाहिकाओं को फैलने या खोलने की क्षमता को कम कर देता है जर्नल ऑफ अमेरिकन हार्ट असोसिएशन में यह शोध पब्लिश भी हुआ है जिसके मुताबिक शोधकर्ताओं ने यह कहा है कि लोगों में रोजाना गुस्सा ,चिंता और उदासी जैसी नकारात्मक भावनाए महसूस होना आम बात है लेकिन इन का जो असर होता है वहाँ का भी खतरनाक हैं|

शिक्षिका  से प्यार कर बैठा छात्र एक तरफा मोहब्बत में कोचिंग सेंटर में घुसकर मारी गोली

बार-बार गुस्सा करना भयानक नुकसान दायक  

8 मीनट तक किए गये गुस्सा का प्रभाव आपके शरीर पर पूरे 40 मीनट तक राहत है परन्तु आप अगर ऐसे व्यक्ति है जो आसानी से बार-बार गुस्सा करते रहते हैं तो आप अपनी धमनियों को स्थायी तौर पर भारी नुकसान पहुंचा सकते हैं अमेरिका के वाशिंगटन स्थित कोलंबिया यूनिवर्सिटी के  मेडिकल सेंटर में मेडिसिन के प्रोफेसर डॉक्ट दाइची शिमबो के द्वारा यह दावा किया गया की हमने देखा कि गुस्से की स्थिति पैदा करने से रक्त वाहिका में शिथिलता आ गयी अध्ययन में यह पता चला कि मानसिक स्वास्थ्य किसी व्यक्ति के हृदय रोग और स्ट्रोक के जोखिम के कारकों को व्यापक पैमाने पर प्रभावित करता है तो अगर आप भी लगातार और बार बार गुस्सा करते हैं और अगर ज़रा भी खुद का भला चाहते हैं तो आज से ही गुस्सा करना छोड़ दे यहा अचानक तो  नहीं होगा लेकिन आपके प्रैक्टिस के कारण धीरे-धीरे हो जायेगा|