Supreme Court of India

पतंजलि की सोन पापड़ी क्वालिटी टेस्ट में हुई फेल असिस्टेंट मैनेजर सहित तीन को जेल कभी भी ना खरीदें 

नई दिल्ली -सुप्रीम कोर्ट के द्वारा सख्त रुख अख्तियार करने और बुरी तरह से फटकारने के बाद में बाबा रामदेव के द्वारा शुरू की गई कंपनी पतंजलि की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही है बताते चलें कि उत्तराखंड के पिथौरागढ़ के मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के द्वारा सोनपापड़ी के परीक्षण में फेल होने के बाद पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड के एक सहायक प्रबंधक समेत सहित तीन लोगों को छह महीने की जेल की सजा सुनाते हुए तीनों के ऊपर भारी जुर्माना भी लगाया है|

कंडोम का नशा कर रहे हैं हॉस्टल में रहने वाले छात्र बाजार में अंधाधुंध तरीके से बढ़ गई मांग

गौरतलब है कि 12 अक्टूबर 2019 को एक खाद्य सुरक्षा निरीक्षक के द्वारा पिथौरागढ़ के बेरीनाग की मेन मार्केट में लीलाधर पाठक की दुकानपर छापा मारा गया जहाँ पतंजलि नवरत्न इलायची सोनपापड़ी के बारे में नमूने लिए गए और उनकी क्वालिटी पर भी संदेह व्यक्त किया गया इसके बाद राम नगर के डिस्ट्रीब्यूटर के साथ ही पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड को भी नोटिस जारी किए गए|

जिसके उपरांत उत्तराखंड के ही रुद्रपुर उधम सिंहनगर में राज्य खाद्य एवं औषधि परीक्षण प्रयोगशाला में फोरेंसिक जांच के लिए भेजा गया दिसंबर 2020 में राज्य खाद्य विभाग की प्रयोगशाला ने परीक्षण में यह पाया कि मिठाई की घटिया गुणवत्तापूर्ण है बताते चलें कि इसके बाद व्यवसायी लीलाधर पाठक वितरक अजय जोशी और पतंजलि के असिस्टेंट मैनेजर अभिषेक कुमार के खिलाफ़ मुकदमा दर्ज किया गया था|

खाद्य सुरक्षा और मानक अधिनियम 2006 के मुताबिक सुनाया गया है फैसला 

इसी सुनवाई के बाद अदालत के द्वारा खाद्य सुरक्षा और मानक अधिनियम 2006 की धारा 59 के तहत तीनों को क्रमश छह महीने की कैद और ₹5000 तथा ₹10,000 और ₹25,000 का भारी जुर्माना भी लगाया है अदालत के द्वारा अपना फैसला खाद्य सुरक्षा और मानक अधिनियम 2006 के मुताबिक सुनाया गया है खाद्य सुरक्षा अधिकारी के द्वारा यह कहा गया है कि अदालत में पेश किए गए सबूत स्पष्ट रूप से उत्पाद की घटिया गुणवत्ता के बारे में इंगित करते हैं|

डॉक्टर पति ने अपनी  डॉक्टर पत्नी को दो युवकों के साथ रंगरेलियां मनाते हुए होटल में रंगे हाथ पकड़ा

कभी नहीं खरीदने पतंजलि की सोनपापड़ी

अगर आप भी पतंजलि की सोनपापड़ी को खरीदते हैं और ये सोचते हैं कि वह आपके स्वास्थ्य के लिए काफी लाभदायक है तो यह आपका भ्रम है क्योंकि न्यायालय में विधिवत सुनवाई के बाद  यह साबित हो चुका है कि पतंजलि की सोन पापड़ी में जो उत्पाद मिलाए गए हैं वह काफी घटिया है इसलिए कोशिश कीजिए कि आप इसे  ना ही  खरीदें और अपने परिवार तथा बच्चों को इसे ना खिलाएं क्योंकि इससे आपके स्वास्थ्य को गंभीर नुकसान भी पहुँच सकते हैं|