केरल में देश के सबसे ज्यादा साक्षर लोग लेकिन बेरोजगारी चरम पर दिल्ली में सबसे कम आंकड़ा जानिये देश का हाल 

नई दिल्ली -PLFS अर्थात प्राइऑरटी लेबर फोर्स सर्वे के द्वारा 2024की पहली तिमाही जनवरी से मार्च तक के देश में बेरोजगारी के आंकड़े जारी किए गए हैं जिनमें यह पता चल रहा है कि 15 से 29 वर्ष के आयु वर्ग के बीच के युवा बेरोजगारी की तगड़ी  मार को झेल रहे हैं जिसमे की केरल सबसे आगे है और दिल्ली सबसे कम है आपको यह भी बताते चलें कि केरल देश का सबसे साक्षर राज्य है लेकिन यहाँ पर बेरोजगारी सबसे ज्यादा है इस वर्ग में कुल बेरोजगारी दर 17 फीसदी तक रही जो 2023 की इस अवधि से मामूली कम है|

दादी ने किरायेदार महिला से संबंध बनाते हुए पकड़ा तो पोते ने की गला दबाकर की हत्या

पिछले तिमाही से कितना अलग है आंकड़ा 

टाइम्स ऑफ इंडिया के द्वारा एक रिपोर्ट प्रकाशित की गई है जिसने यह बताया गया है कि PLFS के आंकड़े यह बताते हैं कि 15 से 29 आयु वर्ग के बेरोज़गारों के मामले में जम्मू और कश्मीर तेलंगाना,राजस्थान और ओडिशा शीर्ष पांच राज्यों में शामिल हैं इस दौरान सभी आयु वर्गों में बेरोजगारी 6.7% के आसपास ही हैजबकि अक्टूबर दिसंबर की पहली तिमाही में यह आंकड़ा 6.5% के आसपास था|

कितना भी चलाएं AC लेकिन नहीं आयेगा ज्यादा बिजली का बिल फॉलो करें ये 5 तरीके|

राष्ट्रीय स्तर पर क्या है स्थिति 

अगर राष्ट्रीय से बात की जाये  तो 22 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में दिल्ली 3.1% के अलावा बेहद कम बेरोजगारी वाले दरों वाले राज्यों में है वहीं गुजरात 9% हरियाणा 9.5%का नाम शामिल हैं इसके अतिरिक्त कर्नाटक में यह आंकड़ा 11.5% और मध्य प्रदेश में यह दर 12.1% पर है महिलाओं के बीच बेरोजगारी दर सबसे ज्यादा जम्मू और कश्मीर में है जहाँ आंकड़ा 148.6 फीसदी पर है|

धोखेबाज़ गर्लफ्रेंड या बॉयफ्रेंड के होते हैं ये 7 लक्षण अगर दिखें तो समझिये वो मिलेगा धोखा 

किसे माना जाता है बेरोजगार

PLFS के द्वारा हर एक तिमाही यह रिपोर्ट जारी की जाती है बताते चलें कि बेरोजगारी दर करंट वीकली स्टेटस CWC के आधार पर निकाला जाता है जिसका मतलब ये होता है की अगर एक व्यक्ति उस सप्ताह में किसी भी दिन 1 घंटे के लिये भी काम नहीं करता है लेकिन वह काम की तलाश में रहता है और उसे काम नहीं मिलता है जबकि वह काम के लिए उपलब्ध रहता है तो उसे बेरोजगार की श्रेणी में मान लिया जाता है|