Heat wave helth effects-भीषण गर्मी से मानव जीवन को खतरा  डॉक्टर्स ने बताया आ सकता है ब्रेन स्ट्रोक जानिये इसके लक्षण

नई दिल्ली-बीते कई दिनों से भारत भीषण गर्मी की चपेट में हैं बताते चलें कि राजस्थान के कई जिलों में पारा 50 डिग्री तक पहुँच चुका है वहीं राजधानी दिल्ली समेत यूपी बिहार के कई हिस्सों में भी आसमान से आग बरस रही है और यहाँ पर पारा 46 डिग्री को पार कर चुका है ऐसे में बुद्धिजीवी डॉक्टर्स का यह कहना है कि लू लगने से ब्रेन स्ट्रोक का खतरा भी हो सकता है ऐसे में धूप और गर्मी से बाहर जाने से जितना हो सके बचना चाहिए व समय-समय पर  पानी भी पीते रहना चाहिए क्योंकि भीषण गर्मी मानव जीवन के लिए बेहद गंभीर खतरा है आइए आपको बताते हैं कि इसके लक्षण क्या हो सकते हैं|

दिल्ली समेत देश के 17 शहरों में आसमान से बरस रही है आग 48 के पास पहुँच चुका है पारा जानिये कब मिलेगी राहत|

रक्त प्रवाह में आने लगती है दिक्कत

मेडिकल फील्ड केमशहूर हस्ती के द्वारा लेटेस्ट हिंदी न्यूज़ को यह बताया गया कि ज्यादा गर्मी और पानी की कमी होने के कारण खून गाढ़ा हो जाता है जिससे कि रक्त का संचार ठीक से नहीं हो पाता और ब्रेन स्ट्रोक का खतरा बढ़ जाता है उन्होंने यह भी कहा कि ज्यादा गर्मी की वजह से जान जाने का भी जोखिम है|

ब्रेन स्ट्रोक के क्या हैं लक्षण

विशेषज्ञों के द्वारा यह बताया गया कि हीटस्ट्रोक में हाँथ ढीले हो जाते हैं जुबान लड़खड़ाने लगती है इसके साथ ही पानी की कमी होने की वजह से मुँह भी सूखने लगता है मरीज को पेशाब कम या फिर बिल्कुल नहीं होती है डॉक्टर ने यह भी बताया कि शरीर का तापमान जब 104 डिग्री फॉरेन्हाइट पर हो जाता है तब हिट स्ट्रोक का खतरा बन जाता है ऐसे में नर्वस सिस्टम भी काफीधीरे हो जाता है|

BHEL की महिला डिप्टी मैनेजर ने की आत्महत्या पुलिस ने  मामले में IRS अफसर को किया गिरफ्तार डेटिंग एप के जरिये हुई थी मुलाकात |

खाने पीने में होने लगती है दिक्कत

डॉक्टर्स के द्वारा यह भी बताया गया कि हिट स्ट्रोक के कारण मरीज को खाने-पीने में दिक्कत होने लगती है इस वजह से डिहाइड्रेशन बढ़ने से उसकी जान Heat wave helth effectsभी जा सकती है इस परिस्थिति में तत्काल अस्पताल में उसे भर्ती कराना चाहिए अगर मरीज कुछ निगलने में भी असमर्थ हो जाता है तब भी अस्पताल में उसे पानी दे दिया जाता है जिससे की स्थिति सुधारने लगती है|

प्रजव्वल रेवन्ना को भारत पहुंचते ही किया जाएगा गिरफ्तार कर्नाटक के गृह मंत्री ने किया ऐलान

हिट स्ट्रोक से ब्रेन स्ट्रोक का खतरा

एम्स दिल्ली में न्यूरोलॉजी डिपार्टमेंट के एचओडी डॉक्टर मंजरी त्रिपाठी के द्वारा लैटस्ट हिन्दी न्यूज को यह बताया गया कि हिट स्ट्रोक के कारण ब्रेन स्ट्रोक का भी खतरा बना रहता है पानी की कमी होने की वजह से खून दिमाग तक नहीं पहुँच पाता है खून का थक्का बन कर नसों में ही जम जाता है ऐसे में रक्त का संचार बाधित हो जाता है और मरीज को ब्रेन हैमरेज हो जाता है उन्होंने यह भी बताया कि उन लोगों को ज्यादा खतरा है जो पहले से ही हाइपरटेंशन डायबिटीज़ के मरीज होते हैंइसके अलावा स्मोकिंग करने शराब पीने वालों के शरीर में यह खतरा कई गुना ज्यादा बढ़ जाता है|

क्या करें  और क्या ना करें 

  1. भीषण गर्मी के समय में जितना हो सके बाहर जाने से बचें बाहर जाएं भी तो पूरी सावधानी के साथ|
  2.  अगर आपको अपनी ज़िंदगी से प्यार है तो जो भी नशा आप करते हो उसे छोड़ दे क्योंकि अगर नशा करते हैं तो आपको कोई भी ब्रेन स्ट्रोक से नहीं बचा सकता|
  3. पानी पीते रहें जिससे कि शरीर में पानी की मौजूदगी अधिक रहेंगीऔर यहा आपके लिए फायदेमंद होगा|
  4. किसी भी प्रकार के संदिग्ध लक्षण आने के बाद तुरंत चिकित्सकीय परामर्श लें किसी भी झोलाछाप डॉक्टर से परामर्श लेकर कोई भी दवाई ना खाये इससे आपकी जान को खतरा हो सकता है|
  5. अंत में आप से यही कहना चाहेंगे जितना हो सके उतना कोशीश करें खुद को सुरक्षित रखने की|