सीधी में गरीब बच्चियों से दुष्कर्म की घटना सामने आने के बाद वॉइस चेंजर ऐप पर रोक  लगाएगी मध्यप्रदेश सरकार

भोपाल-मध्यप्रदेश के सीधी जिले में एक ऐसा वाकया सामने आया जिसने देश भर के लोगों को हैरान करके रख दिया बताते चलें कि वॉयस चेंजर एप  जिसमे की आवाज बदली जा सकती है उसका इस्तेमाल करके स्कूल प्रिंसिपल की आवाज में छात्राओं को बुलाकर दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया गया इसके बाद मध्यप्रदेश सरकार के द्वारा इस तरह के मोबाइल एप्लिकेशन को बंद करने की कवायद शुरू कर दी गई है राज्य स्तर पर तो प्रयास किया ही जा रहा है राष्ट्रीय स्तर पर इस प्रयास पर अमल हो सके इसके लिए गृह मंत्रालय को भी पत्र लिखा जाएगा|

ललितपुर सिंगरौली रेल लाइन  में हुए मुआवज़े घोटाले उच्च स्तरीय जांच शुरू  के पूर्व मंत्री ने सहित नपेंगे की VIP और अफसर 

देश भर में बंद हो जाएंगे वॉइस चेंजर एप

अगर मध्यप्रदेश सरकार के द्वारा गृह मंत्रालय को लिखे गए पत्र पर अमल किया जाता है तो देश भर में वॉयस चेंजर एप्लिकेशन बंद हो जाएंगे और इससे होने वाले अपराधी काफी हद  रुक जाएंगे बताते चलें कि पुलिस मुख्यालय मध्यप्रदेश के द्वारा इस तरह के ऐप्लिकेशन की सूची तैयार कर गृह विभाग के माध्यम से केंद्रीय गृह मंत्रालय को भेजी जाएगी|

पुलिस अपने संरक्षण में चलवा रही थी जुआ का अड्डा मामले में आधा दर्जन पुलिसकर्मी निलंबित TI लाइन अटैच

पहले लगाया जा चुका है प्रतिबंध 

केंद्रीय गढ़ मंत्रालय के द्वारा इसका  परीक्षण पर प्रतिबंध लगा सकता है इसके बाद प्ले स्टोर में यह एक नहीं दिखाई देंगे और न ही यह पहले इंस्टाल  किए गये एप्लिकेशन काम नहीं  करेंगे बता दें चलेगी घटना के मुख्य आरोपियों ने यूट्यूब से जानकारी लेकर लगभग डेढ़ माह पहले ही इस एप्लिकेशन को इन्स्टॉल किया था एडीजी साइबर योगेश देशमुख के बारे में बताया गया है की वॉयस चेंज ऐप्लिकेशन का अपराध के लिये  दुरुपयोग किया जा रहा है आरोपी दुष्कर्म, लूट, जैसी गंभीर अपराध की घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं इया इस एप से महिला या पुरुष की आवाज से बात की जा सकती है|

ऐसे बरती जा सकती है सावधानी

अगर नागरिक खुद को साइबर जागरूक रखते हैं तो कोई माई का लाल नहीं है जो कि उनसे ठगी कर सके लेकिन लोग इन सब चीजों को आज भी नज़रअन्दाज़ कर रहे हैं मध्यप्रदेश से पुलिस के द्वारा लगातार इस संबंध में एडवाइजरी जारी की जा रही है और पहले भी की जाती रही है लेकिन लोग इस पर ध्यान नहीं देते हैं अगर थोड़ी सी सावधानी बरती गई तो ऐसी घटनाओं को रोका जा सकता है|

आशिक के साँथ बेडरूम में सोने लगी पत्नी पती  ने  विरोध किया तो दोनों ने मिलकर दि दर्दनाक सजा 

एडीजी केबर  योगेश देशमुख के द्वारा यह बताया गया कि वॉइस चेंजर की आवाज अपेक्षाकृत ज्यादा सुरीली होती है जो प्राकृतिक आवाज से अलग होती है उन्होंने ये यह भी बताया कि इससे पहले तीन ऐप्लिकेशन पर प्रतिबंध लगाने के लिए पुलिस मुख्यालय ने राज्य सरकार के माध्यम से केंद्रीय गृह मंत्रालय को पत्र लिखा था और इस पर अमल भी किया गया था इसलिए उम्मीद जताई जा रही है कि अभी जो लिस्ट मध्य प्रदेश सरकार के द्वारा गृह मंत्रालय को भेजी जाएगी उस पर भी अमल किया जाएगा|