प्रजव्वल रेवन्ना को भारत पहुंचते ही किया जाएगा गिरफ्तार कर्नाटक के गृह मंत्री ने किया ऐलान

नई दिल्ली- महिलाओं के यौन उत्पीड़न के आरोपी सांसद प्रज्वल रेवन्ना को भारत आते ही अरेस्ट कर लिया जाएगा बताते चलें कि कर्नाटक के होम मिनिस्टर जी परमेश्वर के द्वारा मंगलवार को यह बात कही उन्होंने यह बताया कि फैसला तो एसआईटी को ही लेना है प्रज्वल की गिरफ्तारी कहाँ की जाएगी कांग्रेस सरकार ने प्रज्ज्वल रेवन्ना के कई वीडियो सामने आने के बाद28 अप्रैल को इस मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया था जिसके बाद रेवन्ना ने अपने वकील के माध्यम से एसआईटी को जानकारी दी थी कि वो सात दिनों में पेश होंगे लेकिन वह नहीं पहुंचे उन्होंने यह भी कहा था कि वह डिप्रेशन में हैं|

https://www.latesthindinews.in/2476/latest-breaking-news-in-india-6.html

लीक हुआ था 2900 वीडियो का जखीरा

गौरतलब है कि प्रजव्वल रेवन्ना के द्वारा कीये यौन उत्पीड़न मामले में एक नहीं बल्कि 2900 वीडियो से भरा हुआ पेनड्राइव लीक हुआ था बताटे चलें की प्रज्वल ने इस बार भी हासन लोकसभा सीट से चुनाव लड़ा है या विवाद सामने आने से पहले ही उनकी सीट पर वोटिंग हो चुकी थी जी परमेश्वरा से जब यह पूछा गया की फ्लाइट में बैठते ही रेवन्ना को अरेस्ट कर लिया जाएगा या फिर भारत आने की प्रतीक्षा की जायेगी जिस पर गढ़ मंत्री ने कहा कि इसका फैसला एसआईटी के द्वारा लिया जाएगा जो की अपने तरीके से काम कर रही है एसआइटी को ही फैसला लेना है की कब और कैसे रेवन्ना की गिरफ्तारी होगी उन्होंने यह भी कहा कि यदि रेवन्ना खुद नहीं आते हैं तो भी कानून अपना काम करता रहेगा|

120 किलोमीटर प्रतिघंटा की तीव्रता से उठीं तूफानी हवाएं बंगाल के तटों से टकराया रेमल तूफान कई जिलों में हाईअलर्ट

पहले ही जारी हो चुका है नोटिस 

कर्नाटक के गृह मंत्री ने यह भी कहा है कि उन्होंने रेवन्ना के वीडियो को नहीं देखा है उन्होंने यह कहा कि यह नहीं जानता कि उन्होंने क्यों यह वीडियो बनाया है जी परमेश्वर ने यह भी कहा कि रेवन्ना के खिलाफ़ पहले ही ब्लू कॉर्नर नोटिस जारी हो चुकी है इसके अतिरिक्त sit ने भी उनको नोटिस भेजा है अब इस केस में चार्जशीट भी दाखिल होगी हमें देखना है कि इस मामले की सच्चाई क्या है इसके लिये जांच जारी है बताते चलें कि हाल ही में जारी किए गए वीडियो में बनाने परिवार के सदस्यों और जेडीएस के कार्यकर्ताओं से माफी भी मांगी थी उनका यह कहना था कि मेरे खिलाफ़ राजनीतिक साजिश की गई है|