पुलिस अपने संरक्षण में चलवा रही थी जुआ का अड्डा मामले में आधा दर्जन पुलिसकर्मी निलंबित TI लाइन अटैच

मुरैना-मध्यप्रदेश के मुरैना जिले में पुलिस इस विभाग में व्यापक भ्रष्टाचार का मामला सामने आया है बताते चलें कि यहाँ किसी और के नहीं बल्कि पुलिस के संरक्षण में ही जुआ अड्डा संचालित हो रहा था इस मामले में मुरैना के पुलिस अधीक्षक के द्वारा कड़ी कार्रवाई करते हुए थाना प्रभारी को लाइन अटैच कर दिया गया है तो वहीं दो सब इंस्पेक्टर सहित आधा दर्जन पुलिसकर्मियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है|

ललितपुर सिंगरौली रेल लाइन  में हुए मुआवज़े घोटाले उच्च स्तरीय जांच शुरू  के पूर्व मंत्री ने सहित नपेंगे की VIP और अफसर 

एसपी ने टीम भेजकर कार्रवाई थी जांच

उपरोक्त मामले में पुलिस अधीक्षक शैलेन्द्र सिंह चौहान को इस विषय में सूचना मिली थी कि टीआई और पुलिसकर्मियों के संरक्षण में अवैध रूप से जुए का कारोबार चलाया जा रहा है इस मामले की तस्दीक करने के लिए पुलिस अधीक्षक के द्वारा लोकल पुलिस को सूचना दिये बिना क्राइम ब्रांच की टीम भेजकर छापेमारी की कार्रवाई की गई जिसमें की टीम के द्वारा ग्राम हिंगावली में 30 मई को अचानक छापा मारकर जुएं के अड्डे से नौ आरोपियों को गिरफ्तार किया उनके पास से ₹1,39,000 से अधिक राशि और 9 मोटरसाइकिल तथा मोबाइल फ़ोन भी बरामद किया गया|

ब्यूटी पार्लर का कोर्स सिखाने का लालच देकर नाबालिग बच्चियों से करवाया जा रहा था देह व्यापार दो सदस्य गिरफ्तार पांच फरार

TI सहित कई पुलिस कर्मीयों पर गिरी गाज 

इसके बाद पुलिस अधीक्षक शैलेंद्र चौहान ने जांच के बाद कल देर शाम अंबाह के थानाप्रभारी अमरसिंह सिकरवार की निष्क्रियता और उनके संलिप्तता को देखते हुए उन्हें लाइन अटैच कर दिया पुलिस निरीक्षक कुशवाहा तथा मुकेश राजावत सहित  आधा दर्जन पुलिसकर्मियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने के आदेश भी जारी किए गए हैं सभी थाना प्रभारियों को यह निर्देश जारी करते हुए चेतावनी दी है कि अगर किसी के क्षेत्र में जुआ शराब का अवैध कारोबार होता है तो वे अपने आप को स्वतः ही लाइन अटैच समझें  इस मामले में किसी को बख्शा नहीं जाएगा|