पूरी- सब्जी बेचने वाले की कमाई जानकर हैरान हो जाएंगे आप छापा मारने पहुंची  GST टीम को मिला कुबेर का खजाना

नई दिल्ली -पूरी सब्जी बेचने वाले दुकानदार की कमाई आखिर कितनी होगी कोई भी सामान व्यक्ति अगर अंदाजा लगाएगा तो यही सोचेगा की वह महीने में ₹2,00,000 ही कमा पाता हूँ अगर ज्यादा से ज्यादा कमाई करेगा तो लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी की एक ऐसा मामला सामने आया है जिसमें की पूरी सब्जी बेचने वाले व्यक्ति के पास लाखों नहीं बल्कि करोड़ों की संपत्ति पाई गई है दिल्ली से सटे उत्तर प्रदेश की गाजियाबाद में मालीवाड़ा चौक पर शहर के प्रसिद्ध सैया  जी पूरी वाले राज्य कर विभाग ने 17.85 रुपये की टैक्स की चोरी पकड़ी है|

1 जून से भारत में बदल गए ड्राइविंग लाइसेंस सहित तमाम नियम  देना होगा 25,000 जुर्माना 

AI की मदद से पकड़ा गया आरोपी

यह टैक्स चोरी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मदद से पकड़ी गई है यहाँ पर तकनीकी रूप से भी यह बात सामने आ रही थी कि आर्टिफिशियल के आने से नौकरियां खत्म हो जाएंगी लेकिन ऐसा नहीं है आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मदद से नौकरियां और भी स्मार्ट हो जाएंगी ज़ाहिर सी बात है काम उन्हीं को मिलेंगे जो काफी स्मार्ट होंगे हालांकि मुद्दा यह नहीं है मुख्य बात ये है कि जीएसटी टीम करीब 6 एक महीने से यह टूल से इस समुदाय पर नजर रखी थी जिसके बाद गुरुवार को दुकान और घर पर छापा मारकर इसकी जांच की गई और जो मिला वो हैरान कर देने वाला था|

लाखों रुपए की चोरी करोड़ों की कमाई

राज्य कर विभाग के अपर आयुक्त ग्रेड  1 दिनेश कुमार मिश्रा के द्वारा जानकारी मिली की  कंपाउंड इस स्कीम की जांच के लिए एसओपी जारी की गई थी जिसमें AI टूल्स की मदद लेते हुए मालीवाड़ा में कार्य कर रही फर्म सैयां जी पूरी वाले को जांच के लिए चिन्हित किया गया था और करीब एक महीने तक जांच की गई जिसमें यह पाया गया कि फर्म सैयां जी पूरी वाले कंपाउंड स्कीम में निर्धारित समानकों का उल्लंघन करते हुए व्यापार कर दिया उनके द्वारा जीएसटी की चोरी की जा रही है जिसके बाद आगे की कार्रवाई की गई|

कमाई MNC कंपनी के सीईओ से भी ज्यादा

पूरी सब्जी बेचने वाले इस फर्म सैयां जी पूरी वाले की कमाई किसी मल्टीनेशनल कंपनी के टॉप सीईओ से भी ज्यादा है पता तो चला की जीएसटी विभाग के द्वारा 10 घंटे तक छापेमारी की गई है बताते चलें कि विभाग के विशेष अनुसंधान शाखा के द्वारा पर उनकी रेकी की गई डेटा एनालिसिस में पाई गई कमियों के आधार पर एजेंसी के  द्वारा फर्म पर छापेमारी की कार्रवाई पूरी की गुरुवार को आठ अधिकारियों की टीम ने सैयां जी पूरी वाले की प्रतिष्ठान पर छापा मारकर जांच की और इस जांच में ₹17.85,00,000 की चोरी पकड़ी गई आगे भी और इस तरह के मामले सामने आ सकता है क्योंकि यह लंबे समय तक चल रहा था|