मूल्यांकन करने के एवज में रिश्वत 11 हजार रुपये  में बिका भ्रष्ट उपयंत्री लोकयुक्त ने किया गिरफ्तार 

रीवा- मध्यप्रदेश के रीवा जिले के ग्राम पंचायतों में करोड़ों रुपये का भ्रष्टाचार सामने आ चुका है जिनकी वसूली की जा रही है और कुछ की सुनवाई की जा रही है सतना भी इस मामले में पीछे नहीं है  वह भ्रष्टाचार राजेश गुप्ता जैसे भ्रष्ट उप यंत्रियों के कारण होता है जो कि ग्राम पंचायतों में काम का मूल्यांकन करने के एवज में रिश्वत की मांग करते हैं और खुलकर भ्रष्टाचार करते हैं|

कंगना रनौत को महिला CISF जवान ने एयरपोर्ट पर  मारा जोरदार तमाचा|

मूल्यांकन के एवज में मांग रहा था रिश्वत 

सूत्रों के मुताबिक सतना के रघुराज नगर के निवासी इमाम पिता स्वर्गीय शेर खान के द्वारा लोकायुक्त में इस आशय की शिकायत की गई जिनके द्वारा यह बताया गया कि नगर पालिक निगम में नाली ढकने का कार्य किया गया था जीस काम के मूल्यांकन के एवज में वह नगर पालिका निगम सतना ज़ोनल अधिकारी ज़ोन क्रमांक दो के उपयंत्री राजेश गुप्ता के पास में गया था इस काम के बदले राजेश गुप्ता ₹33,000 रिश्वत की मांग कर रहा था शिकायतकर्ता ने  उसे ₹22,000 दे भी दिए लेकिन वो मूल्यांकन का काम नहीं कर रहा था आखिरकार उसने लोकायुक्त रीवा  को इस आशय की शिकायत की|

गठबंधन सरकार बनते ही नीतीश ने चली पहली चाल 180 डिग्री शॉट मारकर किया कमाल

लोकायुक्त ने रंगे हाथों दबोचा

पीड़ित द्वारा की गई शिकायत का प्रारंभिक तौर पर परीक्षण करने के बाद रीवा लोकायुक्त के द्वारा रणनीति बनाकर शिकायतकर्ता को आरोपी के पास भेजा गया आरोपी राजेश गुप्ता के कार्यालय  कक्ष में जैसे ही शिकायतकर्ता ने ₹11,000 की रिश्वत दी वैसे ही सिविल ड्रेस में खड़ी लोकायुक्त टीम ने उसे रंगे हाथों दबोच लिया आरोपी के खिलाफ़ आगे की कार्रवाई की जा रही है|