बंगाल हारने के बाद भाजपा में मची अंदरूनी कलह  सुभेंदु अधिकारी से लेकर मजुमदार तक रडार पर

नई दिल्ली-एनडीए को लोकसभा चुनाव 2024 में बहुमत प्राप्त हुआ है लेकिन कई राज्यों में उसका प्रदर्शन काफी खराब रहा हालांकि तीसरी बार नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बनने जा रहे हैं वहाँ 8 जून को शपथ ग्रहण करेंगे इसके बावजूद महाराष्ट्र,बंगाल और यूपी में भाजपा को निराशा हाथ लगी है उत्तर दक्षिण भारत के राज्य में बात करें तो तमिलनाडु में भाजपा को एक भी सीट नहीं मिल पाई है|

जीत का खौफनाक जश्न बकरी के सिर पर बीजेपी नेता का फोटो लगाकर बेरहमी से काटा गला सड़क पर घसीटा

देवेन्द्र फडणवीस ने ली महाराष्ट्र की जिम्मेदारी

महाराष्ट्र में तो देवेंद्र फडणवीस ने बुधवार को राज्य के डिप्टी सीएम पद से इस्तीफा देने की पेशकश की है और उन्होंने हार की जिम्मेदारी भी ली है इसी के मद्देनज़र बंगाल में पार्टी में आपसी कलह तेज हो गई है सूत्र ये बता रहे हैं की ये कलह कुछ नेताओं को निशाने पर ले चुकी है राज्य में भाजपा को महज 12 सीटें प्राप्त हुई हैं  जहाँ 2019 में उसने 18 सीटों पर जीत हासिल की थी एक दूसरे पर इस हार का ठीकरा फोड़ा जा रहा है हालांकि अभी तक किसी का नाम नहीं लिया गया|

तीसरी बार सरकार बनाने की ओर बढ़ी  BJP सभी पार्टियों ने सौंपा समर्थन पत्र 

दिग्गज नेता भी नहीं बचा सके अपनी सीट

भाजपा के दिग्गज नेता भी अपनी सीट नहीं बचा सके तीन बार के सांसद और विष्णुपुर लोकसभा सीट से पुनः विजयी हुए सौमित्र खान ने यह कहा तो कई भाजपा नेताओं ने टीएमसी से सीक्रेट गठजोड़ कर रखा था वरना ऐसे नतीजे आते ही नहीं स्थानीय स्तर पर जिला लेवल और राज्य स्तर पर ऐसा हुआ था बिना इस गड़बड़ी के ऐसे नतीजे नहीं आ सकता राज्य में सीटें प्रामाणिक घोष,लॉकेट चटर्जी सुभाष सरकार और देबाश्री चौधरी जैसे नेताओं को हार का सामना पड़ा है|

दिलीप घोष  के आरोपों पर मजुमदार ने दी सफाई

वहीं दिलीप घोष के द्वारा लगाए गए आरोपों पर प्रदेश अध्यक्ष  मजुमदार ने यह कहा कि हमें ऐसे नतीजों की उम्मीद नहीं  थी मेरे पूरे परिवार को सदमा लगा है वह हमारे नेता हैं लेकिन आजाद के मुकाबले हार गए हर  फैसला मेरी ओर से नहीं लिया जाता लेकिन अध्यक्ष के तौर पर मैं इस बात की जिम्मेदारी लेता हूँ उनका इशारा घोष के उस आरोप पर था जिसमें उन्होंने कहा कि मुझे यहाँ से लड़ने वाले भी जिम्मेदार हैं  मजूमदार खुद  10,000 वोटों से बरघाट सीट से जीत चूके हैं|