कुलविंदर कौर ने कंगना रनौत को नहीं मारा था थप्पड़? मामले में नया खुलासा समर्थन में पूरा गाँव 

नई दिल्ली-गुरुवार को चंडीगढ़ एयरपोर्ट पर हिमाचल प्रदेश की मंडी लोकसभा सीट से नवनिर्वाचित सांसद करना रनौत को थप्पड़ मामले में मारने के मामले में एक नया मोड़ सामने आया है गौरतलब है  की CISF कांस्टेबल कुलविंदर कौर के भाई ने यह बताया है कि कुलविंदर कौर ने कंगना रनौत को थप्पड़ नहीं मारा है आपको यह भी बताते चलें कि कुलविंदर कौर के समर्थन में उनके परिवार समेत उनका पूरा गांव खड़ा हो चुका है|

कंगना रनौत को महिला CISF जवान ने एयरपोर्ट पर  मारा जोरदार तमाचा|

कुलवीन्द्र  कौर  ने के भाई ने क्या कहा

कुलविंदर कौर पंजाब के कपूरथला जिले के मंडीमाहिवाल गांव के रहने वाली हैं उनके भाई शेर सिंह महिवाल स्थानीय किसान नेता हैं उन्होंने बकायदा प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए यह कहा कि कुलविंदर सिंह कौर ने कंगना रनौत को थप्पड़ नहीं मारा था कंगना रनौत एयरपोर्ट पर अपने पर्स और दूसरे सामानों की चेकिंग करवा रही थीं उन्होंने यह कहा कि मैं मंडी की एमपी हूँ इसी वक्त कुलविंदर कौर ने कहा कि वह उन्हें नहीं जानती और इस बात पर तीखी नोकझोंक हुई थप्पड़ मारने की कोई घटना हुई ही नहीं है वहीं कुलविंदर कौर के चाचा ने यह कहा कि अगर कुलविंदर कौर ने कंगना रनौत को थप्पड़ मारा है तो उसका वीडियो जारी किया जाए|

बारिश को लेकर बड़ी खुशखबरी अगले 3 तीन दिनों में ईन राज्यों में जमकर बरसेगा मानसून 

समर्थन में पूरा गाँव 

CISF कॉन्स्टेबल कुलविंदर कौर पर विभाग के द्वारा सख्त ऐक्शन लेने की तैयारी है वहीं उनके सपोर्ट में उनका पूरा गांव खड़ा हो गया है बताते चलें कि किसान नेता राकेश टिकैत ने भी उनके समर्थन में बयान दिया है और कहा है की कुलविंदर कौर के समर्थन में पूरा पंजा बखड़ा है उन्होंने तो यह भी कहा की कंगना रनौत ने माँ बहनों के खिलाफ़ में बयान दिया था जिससे कीउनकी भावनाएँ आहत हो गईं  और गुस्से में उन्होंने ऐसा कदम उठा लिया|

NDA ने सौंपा राष्ट्रपति को सरकार बनाने का दावा पत्र 9 जून को PM मोदी ने लिया शपथ 

पती भी CISF में माफी मांगने का दावा 

आपकी जानकारी के लिए बता दें  कि कुलविंदर कौर के पति भी CISF में काम करते हैं वह डॉग स्क्वॉड में तैनात हैं  बताते चलें की कुलविंदर कौर का एक वीडियो भी सामने आया था जिसमें उन्होंने ये कहा था कि मेरी माँ भी उस वक्त वहाँ पर बैठी थी जब कंगना रनौत ने यह बयान दिया था की “किसान ₹100 के लिए यहाँ पर बैठे हैं” फ़िलहाल इस मामले में के द्वारा जांच की जा रही है|