MP में कांग्रेस का सूपड़ा साफ होने के बाद कमलनाथ और जीतू पटवारी के योग्यता पर सवाल मांगा जा रहा है इस्तीफा

नई दिल्ली -लोकसभा चुनाव में जहाँ कांग्रेस संविधान बचाने का दावा कर रही है वहीं कई राज्यों में कांग्रेस का सूपड़ा पूरी तरह से साफ हो चुका है मध्य प्रदेश उन  राज्यों में से एक है यहाँ पर लोकसभा की 29 सीटें हैं और सभी 29 सीटों पर बीजेपी के उम्मीदवार विजई  हुए हैं कांग्रेस के किसी भी उम्मीदवार को जीत नहींहै इससे करारी हार के बाद कांग्रेस पार्टी के अंदरूनी दल में ही बगावत की बू उठने लगी है और दबी  जुबान में कुछ नेता बात कर रहे हैं तो कुछ लोग खुलकर बोलने लगे हैं निशाने पर पूर्व मुख्यमंत्री मध्यप्रदेश कमलनाथ और वर्तमान प्प्रदेश कांग्रेस कमेटी जीतू पटवारी है|

बांग्लादेश की PM शेख हसीना पहुंची  दिल्ली पीएम मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में होंगे शामिल

पूर्व नेता विपक्ष ने उठाई आवाज

इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत के दौरान पूर्व नेता प्रतिपक्ष और चुरहट सीट से वर्तमान विधायक अजय सिंह राहुल ने कमलनाथ पर खुलकर हमला बोला है उन्होंने यह कहा है की हार के लिए वे नेता जिम्मेदार हैं जिन्होंने पार्टी को हाइजैक कर लिया है मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन सिंह के पुत्र अजय सिंह ने पार्टी हाई कमान से स्थिति की उच्चस्तरीय समीक्षा की मांग भी की है उन्होंने जीतू पटवारी पर भी प्रश्नचिन्ह खड़ा किया है|

कुलविंदर कौर ने कंगना रनौत को नहीं मारा था थप्पड़? मामले में नया खुलासा समर्थन में पूरा गाँव 

केवल एक दो नेताओं ने कर लिया पार्टी को हाइजैक

अजय सिंह राहुल ने यह भी कहा कि केवल इस चुनाव में ही नहीं बल्कि व्यवस्थित तरीके से धीरे-धीरे एक दो नेताओं ने पार्टी को पूरी तरह से हाइजैक कर लिया 2018 में हमारे पास एक निर्वाचित सरकार थी जो 15 महीने भी नहीं चली कमलनाथ का नाम लिए बिना उन्होंने निशाना साधते हुए कहा की चुनाव से पहले पूर्व सीएम के भाजपा में जाने की उड़ी खबरों के कारण काफी नुकसान हुआ|

नीतीश कुमार ने पीएम मोदी के छुए पांव NDA संसदीय दल की बैठक में CM और PMका प्रेम मिलन 

जमीनी स्तर पर कांग्रेस के नेताओं के खिलाफ़ जमकर नाराजगी

भले ही कांग्रेस का हाईकमान कुछ भी कहें लेकिन जमीनी स्तर पर कांग्रेस के नेताओं के प्रति आमजन में जमकर आक्रोश है और इसका परिणाम साफ तौर पर लोकसभा चुनाव में देखने को मिला है कुछ नेताओं को छोड़ दिया जाए तो तथाकथित नेता जो कांग्रेस का नाम लेकर अपना फायदा निकालने का काम करते हैं उनमें से कुछ तो ऐसे भी हैं जो अपने फायदे के लिए लोगों के ऊपर झूठा मुकदमा करवातें हैं फिर सैटलमेंट के नाम पर पैसे लेते हैं इन नेताओं के कारण कांग्रेस की छवि खराब हो रही है बुद्धिजीवी ये मानते हैं कि अगर कांग्रेस को छवि  सुधारनी है तो ऐसे नेताओं को बाहर का रास्ता दिखाना होगा|