FEATUREDबिहारभारत

Bihar : पटना के एडीएम पर कार्रवाई

 

कुछ ही दिनों पहले पटना में राज्य शिक्षक पात्रता परीक्षा के अभ्यर्थियों पर लाठीचार्ज का मामला सामने आया था। पटना के एडीएम लॉ एंड ऑर्डर के सिंह भी प्रदर्शन कर रहे अभ्यर्थियों पर जमकर लाठी चलाते नजर आए थे। इसके बाद से ही उनपर कार्रवाई की मांग की जा रही थी। अब इस मामले में एडीएम से जवाब मांगा गया है। पटना के डीएम ने उन्हें पत्र लिख कर इस मामले में एक हफ्ते के भीतर अपना जवाब देने को कहा गया है।

 

दरअसल बीते 22 अगस्त को पटना में शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थी डाक बंगला चौराहा पर बड़ी संख्या में इकट्ठे होकर प्रदर्शन कर रहे थे। इसी दौरान पुलिस ने इन अभ्यर्थियों पर लाठीचार्ज किया। पुलिस के बल प्रयोग में कई अभ्यर्थियों को चोटें भी आईं।

इस दौरान पटना के ADM लॉ एंड ऑर्डर कृष्ण कन्हैया प्रसाद सिंह ने भी प्रदर्शनकारियों को जमकर पीटा था। घायल अवस्था में नीचे गिरे एक अभ्यर्थी पर केके सिंह ने लाठी से कई वार किए थे। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हुआ था।

रअसल, बिहार में काफी लंबे समय से अभ्यर्थी सातवें चरण की शिक्षक भर्ती की बहाली की मांग कर रहे हैं। इन अभ्यर्थियों की मांग थी कि अविलंब बहाली प्रक्रिया शुरू की जाए। इसके अलावा ये लोग बीटीईटी परीक्षा कराने की मांग कर रहे है। वहीं, प्राथमिक शिक्षा विभाग अभी परीक्षा कराने से मना कर रहा है। प्रदर्शन कर रहे अभ्यर्थियों की मांग है कि सातवें चरण की शिक्षक बहाली की जाए। इसके लिए जल्द से जल्द ऑफिशियल नोटिफिकेशन जारी किया जाए।

एडीएम की इस हरकत को लेकर उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने सफाई जारी की थी। उन्होंने कहा था कि पटना में लाठीचार्ज प्रदर्शनकारी छात्रों को नियंत्रित करने के लिए किया गया। इसमें एडीएम को भी छात्रों पर लाठी भांजते देखा गया। इस घटना को लेकर इंक्वायरी कमेटी बिठाई गई है। अगर एडीएम दोषी पाए जाते हैं तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी।

तेजस्वी ने आगे कहा, “विद्यार्थियों(STET) से अपील है कि धैर्य रखें। हम काम कर रहे हैं। हमारी रोज़गार और नौकरी को लेकर ही लड़ाई रही है। हमने 15 अगस्त को ऐलान किया है कि 10 लाख नौकरी देंगे और उसके अलावा भी रोज़गार के साधन उपलब्ध होंगे और 20 लाख को रोज़गार मिलेंगे।

[URIS id=12776]

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button

Adblock Detected

Allow me