FEATUREDउत्तर प्रदेशभारतसोनभद्र

Sonebhadra: प्रधानमंत्री के पोजेक्ट को घटिया सड़क निर्माण करके ठीकेदार कर रहे है सरकार को बदनाम

 

सेक्टर 10 से ओबरा गांव जाने वाली प्रधानमंत्री सड़क हो या चोपन ब्लाक के पनारी ग्राम पंचायत के प्रधानमंत्री ग्राम सड़क हो भ्र्ष्टाचारियों ने सड़क निर्माण में घटिया सामग्री का इस्तेमाल करते हुए कई किमी सड़क बना दी।

पोल खोल सोनभद्र

(दिनेश पाण्डेय)

उत्तर प्रदेश सरकार लगातार जेरो टालेन्स की बात करती है सरकार लगातार भ्र्ष्टाचार के खिलाफ अभियान चलाकर भ्र्ष्टाचारियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही कर रही है। सोनभद्र में भी सरकार ने सोनभद्र के डीएम रहे टिके शिबू के ऊपर भ्र्ष्टाचार का आरोप लगते ही उनके खिलाफ कार्यवाही करते हुए उन्हें सस्पेंड कर दिया था। प्रदेश में माफियाओं व भ्र्ष्टाचारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जा रहा है और उनके ऊपर सख्त कार्यवाही की जा रही है पर सोनभद्र के अधिकारियों पर इसका कोई असर होता नही दिख रहा है। जिले में कभी अवैध खनन तो कभी सरकारी धन का दुरुपयोग देखने को मिलता रहता है। बतादें की ओबरा के सेक्टर 10 से ओबरा गांव जाने वाली प्रधानमंत्री सड़क हो या चोपन ब्लाक के पनारी ग्राम पंचायत के प्रधानमंत्री ग्राम सड़क हो भ्र्ष्टाचारियों ने सड़क निर्माण में घटिया सामग्री का इस्तेमाल करते हुए कई किमी सड़क बना दी।

वही एक तरफ सड़क निर्माण हो रहा है तो दूसरी तरफ सड़क को ग्रामीण अपने हाथों से उखाड़ने हुए नजर आ रहे है। सड़क उखाड़ने का वीडियो अब सोसल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिससे ठेकेदार द्वारा बनाई जा रही प्रधानमंत्री ग्राम सड़क की दुर्दशा देखने को मिल रही है। जल्दबाजी में घटिया व कम मात्रा में तारकोल को सड़क पर डालकर गिट्टी डाल दिया जा रहा है जिससे गिट्टी व मिट्टी दोनों उखड़ते नजर आ रहे है। इस घटिया निर्माण से स्थानीय ग्रामीणों में आक्रोश है और ग्रामीणों ने मांग की है कि सड़क निर्माण किसी अच्छी कम्पनी से करवाया जाए और इस ठेकेदार के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाए जिससे सरकार की छवि धूमिल ना हो।

वही इस मामले में स्थानीय ग्रामीण व अपना दल युवा के प्रदेश सचिव रविन्द्र सिंह यादव ने आरोप लगाया कि घटिया सामग्री इतेमाल कर सरकारी पैसों का बंदरबाट करते हुए घटिया निर्माण करवाया जा रहा है एक तरफ से सड़क बन रही है तो दूसरी तरफ से सड़क उखड़ रही है। हमारे देश व राज्य सरकार को बदनाम करने व सरकार के धन का गलत इस्तेमाल किया जा रहा है

हमारे सरकार को बदनाम करने की सोची समझी साजिश है हमारी मांग है ठेकेदार को ब्लैकलिस्टेट किया जाए और ठेकेदार से वशूली किया जाए। जब इस वीडियो के बाबत अधिकारी से बात की गई तो प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के एक्सईएन प्रशांत यादव ने बताया कि पिछले सत्र में इस सड़क के निर्माण के आदेश हुए थे पर वन विभाग द्वारा इस सड़क निर्माण कार्य को रोक दिया गया था पर अब वन विभाग द्वारा हमे एनओसी दे दी गयी जिसके बाद सड़क निर्माण कराया जा रहा है। अगर ठेकेदार द्वारा घटिया कार्य कराया जा रहा होगा तो जांच कर कार्य को रोक दिया जाएगा। और किसी भी प्रकार से अनियमितता बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

[URIS id=12776]

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button