FEATUREDभारतमध्यप्रदेश

Sidhi : तहसील के वकील का कारनामा हुआ उजागर,महिला ने लगाए धोखाधड़ी के आरोप

 

पोल खोल सीधी

वैसे वकील को को न्याय दिलाने के लिए देवता का दर्जा दिया गया है। वकील न्याय की मूर्ति होते हैं जो लगातार अपने पक्षकारों को न्याय दिलाने के लिए कोर्ट के समक्ष दलीलें पेश करते हैं। परंतु एक व्यक्ति ऐसा जो पूरे वकील जैसे पेशे को बदनाम करने में लगे हुआ हैं।

2016 से बैठ रहा है तहसील परिसर में: –

अपने आप को वकील बताने वाला उकसा निवासी महेंद्र पटेल सिहावल तहसील परिसर में वर्ष 2016 से बैठ रहा है। तथा हमेशा शराब के नशे में टल्ली रहता है। एवं लोगों को मूर्ख बना रहा है जिसकी वजह से पक्षकार आए दिन शोषण का शिकार हो रहे हैं।

यह है पक्षकारों की शिकायत: –

पीड़ित महिला सरोज साकेत निवासी ग्राम बिठौली ने जानकारी देते हुए बताया है कि उक्त व्यक्ति को जो अपने आपको वकील बताता है 2 माह पूर्व 3000 दी थी उसने यह कहा था कि जो शासकीय भूमि है वह हमें तुम्हारे नाम करा दूंगा तथा किसी अन्य को वह जमीन नहीं मिलेगी जिसकी वजह से महिला ने इस तथाकथित वकील बताने वाले व्यक्ति को 3000 दे दी वही जब महिला का काम नहीं हुआ तो महिला इस व्यक्ति के पास बार बार चक्कर लगाने लगी परंतु वह व्यक्ति महिला को यह कह कर घर वापस भेज देता था कि अभी कार्य नहीं हुआ है कुछ दिन बाद आओ। वही जब महिला को उसके कार्यशैली पर शंका हुई तो उसने उग्र रूप धारण करते हुए तथाकथित वकील से काफी बहस बाजी भी की तथा मीडिया को बताया है कि हमारे साथ यह व्यक्ति धोखा किया है।

तितली निवासी एक महिला ने बताया कि 1 माह पहले मैं तहसील अपने बेटी की जन्म प्रमाण पत्र बनवाने आई थी परंतु रास्ता रोककर यह व्यक्ति अपने पास ले गया और मुझसे जन्म प्रमाण पत्र बनवाने के लिए 1000 की मांग करने लगा परंतु मेरे पास सिर्फ 700 थे जो इस व्यक्ति को मैंने दे दिया। परंतु अभी तक मेरा जन्म प्रमाण पत्र नहीं बन पाया है। और 1 महीने के अंदर में तीन बार तहसील का चक्कर लगा चुकी हूं। ऐसे में यह कहना ज्यादा संयुक्त नहीं होगा कि व्यक्ति जो अपने आपको वकील बताता है पता नहीं कितने पक्षकारों को एवं गरीब व्यक्तियों को धोखे का शिकार बनाया होगा।

अधिकारियों पर खड़े हो रहे सवाल: –

प्रतिदिन एसडीएम से लेकर तहसीलदार तक सिहावल तहसील में आते हैं। परंतु किसी ने भी ना तो इस ओर ध्यान आकृष्ट किया और ना ही कार्यवाही की जिसकी वजह से इस व्यक्ति के सपनों को उड़ान मिलती रही। अब देखना दिलचस्प होगा कि क्या खबर प्रकाशन के बाद कोई भी अधिकारी कर्मचारी इस तथाकथित वकील के ऊपर कार्यवाही की हिम्मत जुटा पाते हैं या फिर इसी तरह से यह व्यक्ति लोगों को शोषण का शिकार बनाता रहेगा।

कई अन्य पक्षकारों ने किया हंगामा:-

वही जब यह विवाद तूल पकड़ने लगा तो कई अन्य लोग जो इस वक्त के शोषण का शिकार हुए थे वह भी एक स्वर में यह बताने लगे कि मुझसे भी यह व्यक्ति पैसा लिया है। परंतु आज तक काम नहीं किया है थक हार कर हम लोग अपना मुंह बंद कर लेते थे।

पूर्व में हो चुकी है एक बार पिटाई: –

तहसील परिसर में एक व्यक्ति ने बातचीत के दौरान बताया कि इस तथाकथित वकील की एक महिला ने पूर्व में लात घुसा एवं चप्पलों से पिटाई भी कर दी थी इसके बावजूद भी यह व्यक्ति लगातार लोगों के साथ छल करता आ रहा है।

वही तहसील परिसर सिहावल में प्रैक्टिस करने वाले वकील उमेश कुमार पटेल ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया है कि यह व्यक्ति अधिवक्ता संघ में रजिस्टर्ड नहीं है। और तहसील परिसर के बाहर आम के पेड़ के नीचे बैठता है। जिसकी वजह से आए दिन लोग इसका शिकार होते हैं। वही जो हमारे द्वारा यह सवाल किया गया कि आप लोगों ने अभी तक इस के संबंध में कार्यवाही के लिए अधिकारियों को सूचित क्यों नहीं किया तो उनका कहना था कि इसके संबंध में जल्द ही अधिकारियों को सूचित किया जाएगा और कार्यवाही की मांग की जाएगी।

[URIS id=12776]

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button

Adblock Detected

Allow me