FEATUREDभारतमध्यप्रदेश

Singrauli: नेशनल लोक अदालत में 1172 प्रकरणों का हुआ निराकरण

जिला एवं सत्र न्यायालय में 18 खण्डपीठ बनायी गयी थीं 

पोल खोल पोस्ट

सिंगरौली । जिला एवं सत्र न्यायालय परिसर में आज शनिवार को नेशनल लोक अदालत का आयोजन हुआ। जहां सबसे पहले जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्रीमती सुरभि मिश्रा, कलेक्टर अरूण कुमार परमार, पुलिस अधीक्षक वीरेन्द्र कुमार सिंह सहित न्यायालय के समस्त न्यायाधीश एवं जिला अधिवक्ता संघ के पदाधिकारियों ने मॉ सरस्वती जी की प्रतिमा के समक्ष द्वीप प्रज्वलित कर नेशनल लोक अदालत के आयोजन का शुभारंभ किया गया। नेशनल लोक अदालत में कुल 1172 प्रकरणों का निराकरण हुआ।

जिला एवं सत्र न्यायालय परिसर में आयोजित नेशनल लोक अदालत में प्री लीटिगेशन प्रकरणों में बैंक एवं मनी रिकवरी के 763 प्रकरणों में 19 प्रकरण डिस्पोज हुए जिसमें 1627104 अवार्ड राशि पारित हुआ। इसमें 27 लोग लाभान्वित भी हुए हैं। वहीं बिजली बिल के 673 में से 396 प्रकरणों का निराकरण हुआ। सेटलमेंट एमाउंट 3173569 वसूल किया गया। इसमें 550 व्यक्तियों को लाभ मिला। इसी तरह जल कर के 170 प्रकरणों मे से 5 प्रकरणों का निराकरण हुआ इसमें 28650 रूपये का एवार्ड पारित किया। इन प्रकरणोंं 5 व्यक्ति लाभान्वित हुए। इसके अलावा अन्य प्रकरणों में 887 में से 347 प्रकरणों का निराकरण हुआ इनसे कुल 8908657 रूपये का एवार्ड पारित हुआ। इसमें 367 व्यक्ति लाभान्वित हुए। इस तरह प्री लिटिगेशन के 2929 प्रकरणों में से 768 प्रकरण निराकृत हुए। जिनसे 14302980 रूपये का एवार्ड पारित हुआ। इसमें कुल 950 व्यक्ति लाभान्वित हुए। वहीं लंबित प्रकरणों में एमएसीटी के 79 प्रकरणों में से 22 निराकृत हुए जिनसे 20317722 रूपये का वार्ड पारित हुआ इसमें 90 व्यक्तियों को लाभ मिला। एनआई एक्ट के 230 प्रकरणों में से 20 का निराकरण हुआ जिनसे 4174000 अवार्ड पारित हुआ इसमें 40 व्यक्ति लाभान्वित हुए। वहीं क्रिमिनल कम्पाउंडेबल प्रकरणों में 1210 मे से 179 डिस्पोज हुआ। इसमें 440 व्यक्ति लाभान्वित हुए। मेट्रीमोनियल डिस्प्यूट्स के 140 में 7 का निराकरण हुआ इसमें 16 व्यक्ति लाभान्वित हुए। अन्य प्रकरणों में 56 में से 6 डिस्पोज हुआ इसमें 5343726 रू.का एवार्ड पारित हुआ। इसमें 26 व्यक्ति लाभान्वित हुए। बैंक,मनी रिकवरी के 436 प्रकरणों में 1 डिस्पोज हुआ इसमें 565000 का एवार्ड पारित किया गया। जिसमें 1 व्यक्ति लाभान्वित हुआ।

इसी तरह विद्युत बिल के 714 प्रकरणों में 67 निराकृत हुए जिनसे 872490 रू.की वसूली की गयी। इसमें 117 व्यक्तियों को लाभ प्राप्त हुआ। इस प्रकार पेंडिंग प्रकरणों 2496 में से 304 डिस्पोज हुआ जिनसे 30707938 रूपये का एवार्ड राशि पारित हुआ। पेंडिंग प्रकरणों में 738 व्यक्तियों को लाभ मिला। इस अवसर पर कुल 18 खंडपीठ बनायी गयी थी। लोक अदालत में मुख्य रूप से पीएल दिनकर प्रधान कुटुम्ब न्यायाधीश, एडीजे अंजनी नंदन जोशी, सुशील कुमार, वारिन्द कुमार तिवारी, आत्माराम टांक, विवेक कुमार पाठक,सीजीएम कृष्पाल सिंह, नीरज पवैया, प्रीतांजलि सिंह, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सचिव अभिषेक सिंह, रजिस्ट्रार अभिषेक सिंह, सुधीर सिंह राठौर,शांभवी सिंह, श्यामसुंदर झा, आयुष शर्मा, हर्ष ठाकुर, तन्वी,महेश्वरी ठाकुर, देवांश अग्रवाल सहित अधिवक्तागण मौजूद रहे।

[URIS id=12776]

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button

Adblock Detected

Allow me