FEATUREDभारतमध्यप्रदेश

Sidhi: जर्जर बिल्डिंग एवं गंदगी के बीच पठन-पाठन करनें पर मजबूर है नौनिहाल बच्चियां…

राजबहोर केवट

पोल खोल पोस्ट

सीधी सिंहावल। मध्य प्रदेश के सीधी जिले अंतर्गत सिहावल मुख्यालय से महज 1 किलोमीटर दूरी पर स्थित शासकीय प्राथमिक कन्या शाला सिहावल जिस का स्थापना दिवस वर्ष 1950 है। अब आप अंदाजा लगा सकते हैं कि यह बिल्डिंग कितनी पुरानी और किस स्थिति पर स्थित है।

कई बार विभाग एवं क्षेत्रीय सांसद विधायक को पत्राचार के बावजूद भी नहीं पड़ी किसी की नजर

आपको बताते चलें कि विद्यालय अध्यापिका सुभिया सिंह के द्वारा मीडिया कर्मियों से अपनी बात साझा करते हुए बताया गया कि सीधी सिंगरौली सांसद एवं क्षेत्रीय विधायक को कई बार बच्चियों समेत पत्राचार कर जर्जर बिल्डिंग को लेकर जानकारी दी जा चुकी है। लेकिन आश्वासन के पोटली के अलावा आज तक कोई ठोस कदम किसी के द्वारा नहीं उठाया गया।

क्षेत्रीय विधायक एवं पूर्व मंत्री को इस विषय की जानकारी एवं पत्राचार उनके मंत्रितु काल में भी हम बच्चियों समेत सिहावल के मिनी स्टेडियम में हो रहे वॉलीबॉल प्रतियोगिता के समय दो दो मंत्रियों के समक्ष आवेदन पत्र दिया जा चुका था। परंतु नतीजा आज भी आपके सामने यह जर्जर भवन अपनी व्यथा रो रहा हैं।

सीधी कलेक्टर भी कर चुके हैं इस बिल्डिंग का निरीक्षण

सीधी पूर्व कलेक्टर मुजीबुर्रहमान खान इस जर्जर बिल्डिंग का निरीक्षण उनके द्वारा किया जा चुका था और जल्द से जल्द भवन निर्माण के लिए आश्वासन दिया गया था। पर नतीजा आज तक कुछ सामने निकल कर नहीं आया।

विभाग को भी पत्राचार कर जानकारी दी जा चुकी है लेकिन आज तक कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया

मेरे द्वारा कई बार जर्जर बिल्डिंग को देखते हुए नौनिहाल बच्चियों के साथ साथ अपनी जिंदगी को खतरे में डालकर पठन-पाठन कराया जा रहा है जिसकी जानकारी कई बार पत्राचार के माध्यम से अपने वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराया गया। लेकिन समस्या का हल सामने निकलकर नहीं आया आज भी सभी की जिंदगी खतरे में डालकर पठन-पाठन कराने के लिए हम मजबूर हैं।

 सुभिया सिंह

प्रधानाध्यापिका

 शासकीय प्राथमिक कन्या शाला एकलौती 

[URIS id=12776]

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button

Adblock Detected

Allow me