FEATUREDभारतमध्यप्रदेश

Sidhi : वस्तुआ में फर्जी दस्तावेज लगाकर मनरेगा में किया जा रहा भ्रष्टाचार,जिम्मेदार बेखबर

 

पोल खोल सीधी

(अमित श्रीवास्तव)

सीधी जिले का कुसमी जनपद जो मनरेगा मे भ्रष्टाचार करने को लेकर हमेशा ही अखबारो की सुर्खियों पर बना रहा है यहां मनरेगा पर एक रूपये की मजदूरी का भुगतान करने के मामले पर जीआरएस एवं उपयंत्री पर कार्यवाही भी हो चुकी है पर यहां का भ्रष्टाचार थमने का नाम ही नही ले रहा है।जिससे जनपद के जिम्मेदार अधिकारियो पर भी सवालिया निशान खडे हो रहे है,कई मामले उजागर हुये पर ठोस कार्यवाही नही होने से संबंधित कर्मचारी गंभीरता से काम नही कर रहे है।जबकि शासकीय राशि गमन जैसे मामले पर तो एफआईआर की कार्यवाही होनी चाहिये पर ऐसा नही हो पाया है।

इसबार मामला ग्राम पंचायत बस्तुआ से निकलकर सामने आया है वताया जा रहा है कि यहां पर सचिव एवं जीआरएस के द्वारा मनरेगा में भ्रष्टाचार की इबारत लिखी जा रही है,यहां पंचायत के जिम्मेदारो के द्वारा मजदूरो के फर्जी दस्तावेज के सहारे मनरेगा मे राशि आहरित किये जा रहे है एवं बिना काम किए लोगों के खातों मे राशि डालकर राशि आहरित करवाकर कमीशन लेकर बंदरबांट किया जा रहा है।

ग्रामीणों से मिली जानकारी के अनुसार ग्राम पंचायत बस्तुआ मे हाल मे डग पाउण्ड निर्माण कार्य हरिजन बस्ती बस्तुआ में करीब चार लाख पचास हजार की लागत से निर्माण कार्य कराया गया है।जिस पर शिकायत है कि फर्जी दस्तावेज लगाकर कई व्यक्तियों के खाते मे राशि डाली गई है जिसकी परत दर परत खुलने लगे है एवं कई ऐसे भ्रष्टाचार उजागर करने के संकेत ग्रामीण दे रहे है।इससे पहले पंचायत के कार्यो पर जनपद के प्रशासनिक कर्मचारियों को जल्द से जल्द जांच कार्यवाही कर भ्रष्टाचार पर रोक लगाने की आवश्यक्ता है और जांच कर भ्रष्टाचार करने वालों के खिलाफ कार्यवाही कर देनी चहिये जिसकी मांग भी हो रही है।

इन लोगो के भुगतान पर लग रहे आरोप ग्राम पंचायत वस्तुआ के सचिव एवं जीआरएस के द्वारा डग पाउण्ड निर्माण सहित कई ऐसे निर्माण कार्य कराये गये हैं जहां लालमन,रामकली,राजकुमार, रामकुमार,प्रताप सिंह,गायत्री, प्रताप, रामलखन पनिका,गीता पनिका,रामनाथ पनिका, गया नाथ पनिका,ओमवती पनिका, गयानाथ पनिका,कैलाश नाथ सोनवती, मीना,कलावती सिहं के नाम से फर्जी तरीके से दस्तावेज लगाकर कर मजदूरी भुगतान करके भ्रष्टाचार करने का आरोप लगाया जा रहा है वही इनसे कमीशन लेने जैसे सौदा करके इनकी इनकी मस्टररोल मे भरी भरी जा रही है,

एवं शासन की राशि का दुर्उपयोग कर भ्रष्टाचार करने के आरोप भी लग रहे है।वही आरोप है कि व्यक्ति एक है पर उसी का दो बार नाम जाबकार्ड मे डालकर दूसरे का आधार लगाकर मजदूरी कराई गई है। सभी के जाब कार्ड की जांच एवं जिन जिन कार्यो पर इनकी हाजिरी लगाई गई उन सभी कार्यो की जांच की जाय आधार नं.की जांच एवं खाता नं. की जाच की जाये तो चौकाने वाले खुलाशे हो सकते है,पूरे मामले को लेकर ग्रामीणों ने खंड प्रशासन एवं जिला प्रशासन का ध्यान आकृष्ट कराते हुए जांच कार्यवाही की मांग कर रहे है।

[URIS id=12776]

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button

Adblock Detected

Allow me