मध्यप्रदेश

महाविद्यालय चुरहट में डायल 100 जागरुकता सेमीनार आयोजित,छात्र-छात्राओं को डायल 100/112 की सेवा पर दी गई विस्तार से जानकारी। 

महाविद्यालय चुरहट में डायल 100 जागरुकता सेमीनार आयोजित,छात्र-छात्राओं को डायल 100/112 की सेवा पर दी गई विस्तार से जानकारी।
पोल खोल सीधी चुरहट
एसपी मुकेश कुमार श्रीवास्तव के निर्देशन में आज शासकीय महाविद्यालय चुरहट में डायल 100 जागरुकता सेमीनार का आयोजन किया गया। कॉलेज में कार्यक्रम के दौरान प्रभारी डायल 100 उप निरीक्षक धीरेन्द्र सिंह, डीएस अखिलेश त्रिपाठी, आरक्षक चंद्रोदय मेहरा, आरक्षक शिवानंद गर्ग द्वारा छात्र-छात्राओं एवं प्राध्यापकों को बताया गया कि डायल 100 की सेवा पूरी तरह से नि:शुल्क है तथा इसकी आकस्मिक सहायता कभी भी कहीं से फोन कॉल करके ली जा सकती है। जरूरतमंद प्रदेश के किसी भी मोबाईल टावर से 100/112 डायल कर पुलिस सहायता प्राप्त कर सकते हैं। यदि आपके मोबाईल सिम में बैलेंस नहीं है तब भी 100/112 पर कॉल कर सकते हैं। आप किसी अन्य की मदद हेतु भी उक्त सेवा का लाभ उठा सकते हैं। अपराध की संभावना पर भी उक्त नंबर पर कॉल किया जा सकता है। आप अपना नाम, पता गुप्त रखकर भी डायल 100/112 पर अपराध की सूचना दे सकते है। जागरुकता कार्यक्रम के दौरान पुलिस कर्मियों ने बताया कि सड़क दुर्घटना, छेंडछाड़ आदि आकस्मिक सहायता में डायल 100/112 को फोन लगाकर मदद प्राप्त कर सकते हैं। डायल 100 को कॉल करनें के बाद अपने फोन को चालू रखें। इससे जल्द पुलिस सहयता भेजने में मदद मिलत है। डायल 100 पर अनावश्यक कॉल करनें से बचें। अनावश्यक काल से वास्तविक जरूरतमंद को पुलिस सहयता भेजनें में विलंब होता है। डायल 100/112 में कॉल करनें पर सीधे भोपाल में रिसीव किया जाता है। वहां से संबंधित क्षेत्र की पुलिस को त्वरित मदद पहुंचानें के लिए निर्देशित किया जाता है। इस दौरान छात्र-छात्राओं द्वारा पूंछे गए सवालों के जवाब भी पुलिस के प्रशिक्षकों द्वारा दिया गया। साथ ही उक्त जानकारी को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाने की अपील भी की गई। जिससे आकस्मिक सहायता के रूप में लोग जरूरत के समय में डायल 100/112 सेवा का लाभ उठा सकें। जरूरत के समय फोन कॉल करके सेवा का लाभ लेने से लोगों को बड़ी सहयता समय पर उपलब्ध होती है।

[URIS id=12776]

Related Articles

Back to top button