मध्यप्रदेश

घर में होम स्टे बनाएं, अतिरिक्त आय का साधन पाएं,मप्र शासन पर्यटन विभाग की अभिनव योजना,अतिथियों के रुकने हेतु तैयार करें अपने घर। 

घर में होम स्टे बनाएं, अतिरिक्त आय का साधन पाएं,मप्र शासन पर्यटन विभाग की अभिनव योजना,अतिथियों के रुकने हेतु तैयार करें अपने घर।
सीधी 
मध्य प्रदेश शासन पर्यटन विभाग द्वारा संचालित होम स्टे योजना, फार्म स्टे योजना, ग्राम स्टे योजना व बेड एण्ड ब्रेकफास्ट योजना अंतर्गत अपने घरों के अतिरिक्त कक्ष, फार्महाउस, पारंपरिक ग्रामीण घर आदि को अतिथियों के रुकने हेतु तैयार करें और मध्य प्रदेश पर्यटन बोर्ड के पोर्टल पर पंजीयन कर घर बैठे अतिरिक्त आय पाएं।
प्रक्रिया बहुत सरल है सीधी सहित अनेक जिलों में कई अत्यंत सुंदर व आरामदायक इकाईयां पंजीकृत हुई हैं। इस योजना का मुख्य उद्देश्य यह है कि सीधी जिले में आने वाले देशी-विदेशी पर्यटकों को किफायती दरों पर आवास, भोजन सुविधा प्रदाय हो। विदेशी पर्यटकों को भारतीय संस्कृति एवं आतिथ्य से परिचित कराना तथा निजी क्षेत्र को अपने आवास में उपलब्ध अतिरिक्त क्षमता से आय अर्जित करने हेतु प्रोत्साहित करना है।
यह योजना होटल, मोटल, गेस्टहाउस पपर लागू नहीं होगी। होम स्टे श्रेणी के लिए पंजीयन शुल्क का निर्धारण किया गया। जिसमें सिल्वर एक हजार रुपए और जीएसटी, गोल्ड 2 हजार रुपए जीएसटी, डायमंड 3 हजार रुपए जीएसटी शामिल हैं। सिल्वर, गोल्ड एवं डायमंड श्रेणी का निर्धारण मापदंड चेक लिस्ट के आधार पर किया जाएगा। होम स्टे का पंजीयन 3 साल तक के लिए वैध रहेगा। पंजीयन के नवीनीकरण हेतु आवेदन पत्र के साथ एक हजार रुपए और जीएसटी शुल्क एवं निर्धारित दस्तावेज, वैधता की अंतिम तिथि के तीन माह पूर्व जमा कर नवीनीकरण किया जा सकेगा। जो संपत्ति धारक इस योजना अंतर्गत पंजीकरण कराने के इच्छुक हों उसे मध्य प्रदेश टूरिज्म बार्ड के प्रबंध संचालक को प्रारूप अ में पंजीयन फीस के साथ आवेदन प्रस्तुत करना होगा।
डिमांड ड्राफ्ट/बैंकर्स चेक प्रबंध संचालक, मध्य प्रदेश टूरिज्म बोर्ड, भोपाल के नाम पर बनाना होगा। आवेदन पत्र अमान्य होने पर यह फीस वापिस नहीं होगी। योजना के अंतर्गत पंजीकृत इकाई को कुछ शर्तों की पूर्ति करना आवश्यक है। उसमें इकाई विशुद्धत: आवासीय हो तथा इसका स्वामी परिवार सहित भौतिक रूप से उसमें निवासरत हो। संपत्ति धारक अपने आवासीय भवन के अधिकतम दो तिहाई शयन कक्षों को ही किराए पर दे सकेगा। जिसकी संख्या कम से कम 1 तथा अधिकतम 6 होगी। जिसमें अधिकतम 12 शैया होगी। स्नानागार, शौचालय, जल, ऊर्जा आपूर्ति, फर्नीचर व अन्य सुविधाएं उपयुक्त स्तर की होगी। कमरे में हवा आने-जाने के लिए खिड़की अथवा वेंटीलेटर हो। परिसर अच्छी अवस्था में हो। परिसर में साफ-सफाई की अच्छी व्यवस्था हो। अग्रि सुरक्षा सहित अन्य सुरक्षा के पर्याप्त प्रबंध हो।

[URIS id=12776]

Related Articles

Back to top button