मध्यप्रदेश

धड़ल्ले से चल रहा है जंगल पहाड़ से अवैध बोल्डर पत्थर का व्यापार वन्य जीव हो रहे प्रभावित विभाग मौन…

धड़ल्ले से चल रहा है जंगल पहाड़ से अवैध बोल्डर पत्थर का व्यापार वन्य जीव हो रहे प्रभावित विभाग मौन..

सीधी सिंहावल। आपको बताते चलें कि इस समय सिहावल मुख्यालय क्षेत्र में जंगल पहाड़ से अवैध पत्थर बोल्डर के चोरी का सिलसिला जोरों से चल रहा है। विभागीय अधिकारी कर्मचारीयों के नाक के नीचे यह पूरा खेल चल रहा है। और विभागीय अधिकारी कर्मचारियों की आंख पर कमीशन की पट्टी बंधी हुई है।

वन्य जीव एवं पेड़ पौधें भी हो रहे हैं प्रभावित

आपको बताते चलें कि जंगल पहाड़ से पत्थर बोल्डर निकालकर पंचायत सरपंच एवं सचिव की सांठगांठ से पंचायत में विक्रय की जा रही है। जिसका पंचायत सरपंच सचिव के द्वारा पीसीसी निर्माण कार्य में उपयोग किया जा रहा है। वहीं जंगल विभाग में पदस्थ चौकीदार के पूरे संरक्षण में यह कार्य फल फूल रहा है। वही जिम्मेदार अधिकारी कर्मचारियों को बोल्डर पत्थर के विक्रेताओं के द्वारा मंथली हिस्सा उनके कमरे पर पहुंच जाता है। जिसकी वजह से विभागीय अधिकारी कर्मचारी भी मौन होकर चुप्पी साधे हुए हैं।

ग्राम पंचायत गेरुआ के केशौली के पहाड़ से पत्थर बोल्डर अवैध तरीके से निकालकर कई ग्राम पंचायतों तक पहुंचाया जाता है। वही ग्राम पंचायत के सरपंचों के द्वारा क्रेसर युक्त गिटृक की बजाय सस्ते एवं निजी बचत के लिए पहाड़ के पत्थर एवं बोल्डर का उपयोग किया जा रहा है।

पीसीसी निर्माण कार्य की तस्वीर एवं बेश में डाले गए बोल्डर पत्थर देख कर अन्दाजा लगा सकते हैं। कि नवनिर्वाचित सरपंचों के द्वारा किस तरह से ग्राम पंचायतों का विकास कार्य कराया जा रहा है। क्या यह पीसीसी इनके कार्यकाल तक चल पाएगी या नहीं जिसकी जांच बारीकी से हो जाए तो दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा।

इनका कहना है

यह बात मेरे संज्ञान में नहीं है अभी मैं चुनाव ड्यूटी में हूं चुनाव ड्यूटी से वापस आने के बाद उसे हम दिखाते हैं अगर ऐसा होगा तो वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।
त्रिवेणी प्रसाद रावत बीट प्रभारी।

[URIS id=12776]

Related Articles

Back to top button