मध्यप्रदेश

दूसरे दिन हुआ बाघ हमला से मृत महिला का अन्तिम संस्कार,काफी मान मनौव्वल के बाद राजी हुए परिजन,विभाग ने की 20 हजार की तत्कालीन मदद।

दूसरे दिन हुआ बाघ हमला से मृत महिला का अन्तिम संस्कार,काफी मान मनौव्वल के बाद राजी हुए परिजन,विभाग ने की 20 हजार की तत्कालीन मदद।

संजय सिंह मझौली सीधी
संजय टाईगर रिजर्व अंतर्गत दुबरी परिक्षेत्र के बड़काडोल बीट में 6 जनवरी को दोपहर लगभग 2:30 बजे गुड्डीबाई भूर्तिया के ऊपर बाघ द्वारा हमला कर उसे गम्भीर रूप से घायल कर दिया गया था जिसके चलते उसकी चंद मिनटो में ही मौत हो गई थी। परिजनों द्वारा आक्रोश ब्यक्त किए जाने के चलते मृतिका का अन्तिम संस्कार घटना दिनाँक को न हो पाने के कारण अगले दिन 7 जनवरी को हुआ।


प्राप्त जानकारी के अनुसार गुड्डी बाई पति रामाधार भूर्तिया 52 वर्ष निवासी ग्राम बड़काडोल 6 जनवरी को भैस लेकर जुड़मानी गांव जो जंगल से लगा हुआ है वहां गई थी जहां अन्य गांव की महिलाओं के साथ वह भी लकड़ी बिनने लगी तभी अचानक बाघ ने उस पर हमला उसे गम्भीर रूप से घायल कर दिया साथ में गई महिलाओं के हल्ला गुहार करने पर बाघ दूसरी तरफ चला गया लेकिन तब तक में गम्भीर रूप से घायल हो चुकी गुड्डीबाई ने दम तोड़ दिया था।परिजनों द्वारा इसकी सुचना विभागीय अमला संजय टाइगर रिजर्व के साथ पुलिस को भी दी लेकिन घटना दिनांक को बिभागीय टीम ग्रामीणों के आक्रोश को भाँपते हुए नही पहुंची जबकि मझौली थाना प्रभारी व अनुविभागीय अधिकारी पुलिस समेत नजदीकी थानो व चौकियों से काफी पुलिस बल रात में ही घटना स्थल पर पहुँच कर ग्रामीणों को समझाइस देने पर कानून व्यवस्था नियंत्रित रही पर रात हो जाने के कारण पुलिस व ग्रामीणों के बीच सामंजस्य नही बन पाया।अगले दिन परिक्षेत्र अनुविभागीय अधिकारी राहुल रघुवंशी, अनुविभागीय अधिकारी पुलिस रोशनी ठाकुर,तहसीलदार मझौली वी के पटेल व थाना प्रभारी दीपक सिंह बाघेल द्वारा परिजनों को समझाइस देते हुए 20 हजार नगद तत्कालिक मदद की गई व मृतक के परिजनों को जल्द सहायता राशि उपलब्ध कराने की बात कही गई तदुपरांत परिजनों द्वारा मृतिका का पी एम कराकर लगभग 1 बजे सभी की उपस्थिती में उसका अन्तिम संस्कार कराया गया।

[URIS id=12776]

Related Articles

Back to top button