मध्यप्रदेश

जंगली जानवरों के हमले से हुई जन हानि की घटनाएं दुर्भाग्यपूर्ण : सांसद।

जंगली जानवरों के हमले से हुई जन हानि की घटनाएं दुर्भाग्यपूर्ण : सांसद।

संवेदनशीलता के साथ पीड़ित परिवारों को सहायता उपलब्ध कराई जाए – सांसद श्रीमती पाठक

सीधी: सांसद Riti Pathak की अध्यक्षता में संजय टाइगर रिजर्व में निरंतर हो रही घटनाओं के संबंध में बैठक आयोजित की गई। बैठक में विधायक धौहनी कुंवर सिंह टेकाम, कलेक्टर Saket Malviya, पुलिस अधीक्षक मुकेश कुमार श्रीवास्तव, सीसीएफ अमित दुबे, डीएफओ क्षितिज कुमार, सीईओ जिला पंचायत राहुल धोटे सहित संबंधित विभागों के खंड स्तरीय अधिकारी भी जुड़े।

सांसद श्रीमती पाठक तथा विधायक टेकाम द्वारा सीधी जिले में जंगली जानवरों के हमले से हुई जन-धन हानि की घटनाओं को दुर्भाग्य पूर्ण बताते हुए चिंता व्यक्त की गई है। उन्होंने वन विभाग तथा संजय टाइगर रिजर्व के अधिकारियों को उक्त के संबंध में पुख्ता व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं जिससे जंगली जानवरों के कारण जन-धन की हानि नहीं हो। सांसद श्रीमती पाठक ने निर्देश दिए कि जंगली जानवरों से सुरक्षा के लिए सभी सुरक्षात्मक उपाय किए जाएँ। वन विभाग इसके लिए विशेष दलों का गठन करें, जिनके पास उपयुक्त वाहन, वायरलेस तथा अन्य सुरक्षात्मक उपकरण हों। दल के कार्यों की निगरानी प्रतिदिन वरिष्ठ अधिकारी करें। उन्होंने कहा कि ग्रामों में ईको विकास समितियों को सक्रिय करें तथा प्रत्येक ग्राम स्तर की एक रिस्पांस टीम बनाई जाए। यह टीम टाइगर रिजर्व के प्रबंधन से लगातार सम्पर्क में रहे। जंगली जानवरों के विचरण के संबंध में ग्रामवासियों को लगातार सूचनाएं दी जाएं।

सांसद श्रीमती पाठक ने कहा कि वन विभाग के अधिकारी और कर्मचारी टाइगर के मूवमेंट पर सतत निगरानी रखें। टाइगर के दल को आबादी क्षेत्र से वनों की ओर ले जाने के प्रयास करें। यदि टाइगर का दल बस्ती की ओर आता है तो ग्रामवासियों को समय रहते सचेत करें, जिससे किसी तरह की दुर्घटना न हो। टाइगर का आबादी क्षेत्र में प्रवेश रोकने के लिये वन विभाग के अधिकारी कार्य-योजना तैयार करें। टाइगर के मूवमेंट के संबंध में लाउड स्पीकर से ग्रामवासियों को लगातार सूचनाएँ दें। सांसद ने निर्देश दिए कि जंगली जानवरों से बचाव के संबंध में ग्रामीणों को जागरूक किया जाए। इस संबंध में जागरूकता अभियान चलाया जाए।

सांसद श्रीमती पाठक ने कहा कि पीड़ित परिवार को आर्थिक सहायता राशि 08 लाख रुपए विधायक जी की उपस्थिति में उनके घर जाकर दिया जाना सुनिश्चित करें। साथ ही संजय टाइगर रिजर्व अंतर्गत हुए पशु हानि का मुआवजा तत्काल संबंधितों के खाते में दिया जाए। उन्होंने कहा कि अधिकारी अपने जिम्मेदारियों का निर्वहन संवेदनशीलता के साथ करें। यह सुनिश्चित करें कि ग्रामवासियों को किसी भी प्रकार की समस्या ना हो तथा शासन द्वारा चलाई जाने वाली जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ सभी पात्र हितग्राही को सहजता से मिले। विस्थापित ग्रामों का मुआवजा तत्काल उनके खाते में हस्तांतरित किया जाए जिससे कि समय रहते हुए यहां से विस्थापित हो सके। उन्होंने निर्देशित किया है कि जब तक विस्थापित ग्रामों का विस्थापन नहीं हो जाता तब तक नए जानवर न छोड़े जाए।

इस अवसर पर कलेक्टर श्री मालवीय ने आश्वस्त किया है कि निर्देशों के पालन में विभाग द्वारा सक्रिय सहयोग किया जाएगा।

[URIS id=12776]

Related Articles

Back to top button