FEATUREDभारतमध्यप्रदेश

Satna : संतुष्टिपूर्ण निराकरण का वेटेज बढ़ायें, ग्रेडिंग में लायें सुधार- अपर कलेक्टर

पोल खोल सतना

सोमवार को संपन्न समय-सीमा प्रकरणों की बैठक में अपर कलेक्टर संस्कृति जैन ने सीएम हेल्पलाइन के प्रकरणों की विभागवार समीक्षा की। उन्होंने कहा कि सतना जिला अभी ग्रेडिंग के मामले में दसवें स्थान पर है। सभी विभाग अपने यहां सीएम हेल्पलाइन के प्रकरणों में संतुष्टिपूर्ण निराकरण का वेटेज बढ़ाएं और जिले की ग्रेडिंग में सुधार लाएं। बैठक में आयुक्त नगर निगम राजेश शाही, एसडीएम नीरज खरे, एसके गुप्ता, धीरेंद्र सिंह, धर्मेंद्र मिश्रा, सुधीर बेक, एचके धुर्वे सहित नगरीय निकायों के सीएमओ तथा जिला विभाग प्रमुख अधिकारी उपस्थित थे।

सीएम हेल्पलाइन की समीक्षा के दौरान बताया गया कि पिछले सप्ताह सीएम हेल्पलाइन की लंबित शिकायतें 14 हजार 934 थीं। जो कि इस सप्ताह 640 बढ़कर 15 हजार 574 हो गई हैं। आदिम जाति कल्याण, राजस्व, लोक निर्माण और वित्त विभाग ‘डी’ श्रेणी में शामिल हैं। अपर कलेक्टर संस्कृति जैन ने कहा कि सुनिश्चित करें कि ग्रेडिंग के दौरान कोई भी विभाग ‘डी’ श्रेणी में नहीं रहना चाहिए।

सभी विभाग प्रमुख शेष 2 दिनों के भीतर अपने विभाग की सीएम हेल्पलाइन प्रकरणों का विश्लेषण करें। संतुष्टिपूर्ण निराकरण बढ़ाते हुए जिले की ग्रेडिंग में सुधार लाएं। उन्होंने सभी एसडीएम को राजस्व विभाग की एल-4 की शिकायतों को तहसीलदारों के माध्यम से निराकरण कराने के प्रयास करने के निर्देश दिए। समाधान के विषयों की सीएम हेल्पलाइन कुल 590 में से 185 कम की गई हैं। शेष 405 शिकायतों का निराकरण करने के निर्देश दिए गए।

अपर कलेक्टर ने मुख्यमंत्री आवासीय भू-अधिकार योजना में अंतिम निराकरण के पश्चात पात्र हितग्राहियों के पट्टे तैयार करने की कार्यवाही करने के निर्देश दिए। उन्होंने लैंड रिकॉर्ड लिंकिंग, एनपीसीआई, मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना, जल जीवन मिशन, राशन दुकानों में खाद्यान्न उठाव एवं वितरण तथा राशन दुकानों की जांच अधिकारियों के प्रतिवेदनों की समीक्षा की। अपर कलेक्टर ने कहा कि जांच अधिकारी राशन दुकानों की जांच के दौरान स्टॉक वेरिफिकेशन भी अनिवार्य रूप से करें। आयुष्मान कार्ड बनाने के कार्य की समीक्षा में बताया गया कि नगरीय निकाय क्षेत्रों में 2 लाख 19 हजार 816 कार्ड अब तक बनाए गए हैं। जो निर्धारित लक्ष्य का 87.53 फ़ीसदी है। इस सप्ताह नगरीय निकाय क्षेत्रों में 2532 आयुष्मान कार्ड बनाए गए हैं।

[URIS id=12776]

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button