मध्यप्रदेश

राजस्व विभाग देवसर में हुए जमीन सम्बंधित भ्रष्टाचार के मामले को लेकर प्रभारी मंत्री व मुख्यमंत्री को दूगां ज्ञापन- विवेक।

राजस्व विभाग देवसर में हुए जमीन सम्बंधित भ्रष्टाचार के मामले को लेकर प्रभारी मंत्री व मुख्यमंत्री को दूगां ज्ञापन- विवेक।

तहसीलदार एवं पटवारी उपखंड अधिकारी के आदेश को भी दिखा रहे ठेंगा।

सिंगरौली/देवसर- आम आदमी पार्टी के युवा नेता एवं सीधी जिलाध्यक्ष इंजीं.विवेक सोनी ने प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए बताया कि 22 जनवरी को प्रदेश के मुख्यमंत्री मामा शिवराज सिंह चौहान जी का सिंगरौली आगमन होना सुनिश्चित हुआ है एवं उनके साथ प्रभारी मंत्री एवं अन्य मंत्री की आने की सूचना मिली है।जिसमें उन्होंने तहसील कार्यालय देवसर के राजस्व विभाग में फैले एक बड़े भ्रष्टाचार का शिकायत पत्र एवं ज्ञापन देकर शासन के मंशा के विपरीत हो रहे कार्य का खुलासा करते हुए उसमें संलिप्त गिरोह का भी भंडाफोड़ करेंगे।उन्होंने उक्त मामले का पर्दाफाश करते हुए बताया कि ग्राम पंचायत जियावन तहसील देवसर जनपद पंचायत देवसर जिला सिंगरौली के पटवारी हल्का जियावन-15,तहसील देवसर वृत्त सरौधा जिला सिंगरौली में जगदीश प्रसाद पिता रामरंगीले उर्फ राम रसीले जाति सोनी के द्वारा फर्जी तरीके से खसरा क्रमांक 432/23 में रकवा 2.0230 हेक्टेयर भूमि दर्ज करा लिया गया है,जबकि उक्त व्यक्ति के पास पैतृक जमीन के वर्तमान का खसरा क्रमांक 432/56 में रकवा 2.0230 हेक्टेयर है।वहीं जिसका पुराना खसरा क्रमांक 564/14, 564/23 है लेकिन जगदीश प्रसाद पिता रामरंगिले के पास वर्तमान समय 2022-23 में दो रकबा एवं दो खसरा क्रमांक में लगभग 10 एकड़ जमीन दर्ज है,जबकि सही मायने में 5 एकड़ ही है।वहीं एक खसरा में दर्ज वर्तमान खसरा क्रमांक 432/23 रकवा 2.0230 हेक्टेयर फर्जी तरीके से दर्ज है।उन्होंने सीधा आरोप लगाते हुए बताया कि यह खेल राजस्व विभाग के कुछ चंदन नुमाइंदे जो भ्रष्टाचार में माहिर हैं उनके द्वारा फर्जी तरीके से मिलीभगत कर कराया गया है।वहीं उन्होंने बताया कि उक्त मामले की शिकायत विधिवत पत्राचार के माध्यम से दिनांक 07/12/2022 को उपखंड अधिकारी देवसर से की गई है एवं आवक-जावक रजिस्टर शिकायत क्रमांक 348 में दर्ज है।साथ ही उक्त मामले की शिकायत दिनांक 07/12/2022 को तहसीलदार तहसील देवसर वृत्त सरौधा से की गई हैं।साथ ही दिनांक 07/12/2022 को राजस्व निरीक्षक देवसर वृत्त सरौधा एवं दिनांक 07/12/2022 को ही पटवारी जियावन हल्का जियावन-15, को भी शिकायती पत्र के माध्यम से जानकारी दी जा चुकी है जिसकी ओसी कापी भी शिकायकर्ता के पास सुरक्षित है।

उपखंड अधिकारी देवसर के आदेश उपरांत भी तहसीलदार प्रतिवेदन देने में कर रहे आनाकानी

आप नेता विवेक कुमार सोनी की माने तो देवसर राजस्व विभाग ने शिकायती पत्र को दरकिनार करते हुए फर्जी जमीन का नामांतरण किया है।उन्होंने बताया कि दिनांक 07/12/2022 को दिए गए शिकायत पत्र में उल्लेख किया गया है कि खसरा क्रमांक 432/23 रकवा 2.0230 हेक्टेयर के विक्री एवं नामांतरण में तत्काल रोक लगाई जाए,लेकिन उक्त फर्जी कार्य में राजस्व अमला संलिप्त दिखाई दिया। दरअसल शिकायती पत्र के बाद भी सभी नियमों को ताक पर रखते हुए बिक्री हुई फर्जी जमीन का आनन- फानन में 19/12/2022 को न्यायालय तहसीलदार के प्रकरण क्रमांक 0412/अ-6/2022-23 आदेश दिनांक 19/12/2022 के अनुसार दर्ज करना बहुत बड़ा भ्रष्टाचार है।इतना ही नहीं बल्कि पूर्व में ही प्राप्त शिकायत पत्र को नजरअंदाज कर बिना जांच पड़ताल के ही उक्त जमीन का नामांतरण कर देना एक लोक सेवक के लिए भ्रष्टाचार से कम नहीं है।वहीं श्री सोनी ने बताया कि राजस्व विभाग देवसर अंतर्गत सभी पटवारी हल्का में निष्पक्ष जांच की जाए तो ऐसे एक नहीं बल्कि कई राजस्व विभाग के भ्रष्टाचारियों का गिरोह बेनकाब हो सकता है।

दिनांक 17 जनवरी 2023 को उपखंड अधिकारी देवसर ने तहसीलदार को तीन दिवस में प्रतिवेदन देने का किया था आदेश।

आप नेता श्री सोनी ने बताया कि दिनांक 17 जनवरी 2023 को उपखंड अधिकारी देवसर द्वारा विधिवत तहसीलदार को आदेश जारी कर तीन दिवस में मामले की जांच करने व जांच प्रतिवेदन देने का आदेश दिया गया था वहीं सक्षम अधिकारी के आदेश में स्पष्ट उल्लेख किया गया था कि शिकायतकर्ता के समक्ष जांच कर प्रतिवेदन दिया जाए,परन्तु अब तक किसी भी प्रकार की कोई जांच नहीं की गई।जो निश्चित ही बड़ा सवाल खड़ा करता है।

धरना प्रदर्शन की दी चेतावनी

उक्त मामले को लेकर आप नेता ने राजस्व विभाग को चेतावनी दी है कि यदि 7 दिवस के अंदर उक्त समस्या का समाधान नहीं किया जाता तो मजबूरन आम आदमी पार्टी अपने बैनर तले उपखंड मुख्यालय देवसर में राजस्व विभाग के ऐसे कई भ्रष्टाचारी गिरोहों के विरुद्ध धरना प्रदर्शन करने को बाध्य होगी,जिसकी संपूर्ण जवाबदेही खंड प्रशासन देवसर एवं जिला प्रशासन सिंगरौली की होगी।

[URIS id=12776]

Related Articles

Back to top button