मध्यप्रदेश

मिट्टी के तेल का घोटाला करने वाले सेल्‍समैन को 06 माह का कठोर कारावास।

मिट्टी के तेल का घोटाला करने वाले सेल्‍समैन को 06 माह का कठोर कारावास।

सीधी: अभियुक्त ग्राम खड्डी खुर्द स्थित शासकीय उचित मूल्य की दुकान में सेल्समैन के रूप में दिनांक 07.09.2014 को कार्य कर रहा था। दोपहर 01:00 के लगभग नायब तहसीलदार रामपुर नैकिन द्वारा दुकान का निरीक्षण किया गया तो पाया गया कि शासकीय उचित मूल्य की दुकान में स्टाक रजिस्टर में मिट्टी का तेल 150 लीटर था। उसके बाद जांच करने पर 95 लीटर ही निकला था, जो माप में कमी थी। अतः नायब तहसीलदार द्वारा पुलिस चैकी खड्डी में लिखित रूप से अपराध पंजीबद्ध करने का निर्देश दिया गया था, जिसके आधार पर थाना रामपुर नैकिन के अपराध क्र. 556/2014 के तहत मामला पंजीबद्ध किया गया। साक्षी रामरक्षा तिवारी, लल्लू बंसल, शिवनाथ, सतीष तिवारी, मो. हनीफ के कथन लेखबद्ध किये गये। स्टाक रजिस्टर को जप्त कर जप्ती पंचनामा बनाया गया। अभियुक्त को गिरफ्तार कर गिरफ्तारी पत्रक बनाया गया। अनुसंधान उपरांत अभियोग पत्र न्यायालय में प्रस्तुत किया गया, जहां न्या्यालयीन प्र.क्र. 755/14 में शासन की ओर से पैरवी सहायक जिला अभियोजन अधिकारी श्री पंकज पारेता द्वारा करते हुए आरोपी को संदेह से परे प्रमाणित कराया गया। परिणामस्वरूप माननीय न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी रामपुर नैकिन ने आरोपी यशवंत सिंह तनय स्वन. सुन्दारलाल सिंह, उम्र 38 वर्ष को आवश्यक वस्तु् अधिनियम की धारा 3/7 का दोषी करार देते हुए 06 माह का सश्रम कारावास एवं 500/-रू. के अर्थदण्ड से दण्डित किया गया।

(2) मारपीट के आरोपियों को न्यायालय उठने तक का कारावास एवं जुर्माना

दिनांक 06.06.2013 को दोपहर 01 बजे फरियादी गुरूदेव प्रसाद मिश्रा रामू कुम्हार के घर पर ट्रैक्टर खाली करने गया था, तभी उसे फोन पर पता चला कि अभियुक्तगण रामसुन्दर यादव तनय महादेव यादव उम्र 51 वर्ष एवं केशरी यादव तनय लोल्ला यादव उम्र 36 वर्ष दोनो निवासी ग्राम बडेसर चाकी खड्डी थाना रामपुर नैकिन ने उसके भाई राहुल मिश्रा को मारने के लिये ढूंढ रहे हैं। जब फरियादी घर पहुचा तो देखा अभियुक्तगण अश्लील गालियां दे रहे थे, मना करने पर अभियुक्तगण ने लाठी डण्डे से मारपीट की जिससे आहत राहुल मिश्रा एवं फरियादी गुरूदेव मिश्रा को सिर पर चोंट आयी। बीच बचाव करने पर अभियुक्तगण जान से मारने की धमकी देते हुए चले गये। फरियादी की शिकायत पर थाना अंतर्गत धारा 294, 323/34 एवं 506 भाग दो पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया एवं विवेचना उपरांत अभियोग पत्र न्यायालय में प्रस्तुत किया गया, जहां न्यायालयीन प्र.क्र. 244/13 में शासन की ओर से पैरवी सहायक जिला अभियोजन अधिकारी श्री पंकज पारेता द्वारा करते हुए आरोपीगण को संदेह से परे प्रमाणित कराया गया। परिणामस्वरूप माननीय न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी रामपुर नैकिन ने आरोपीगण रामसुन्दर यादव एवं केशरी यादव को धारा 294, 323/34, 506 भाग-दो भादवि का दोषी पाते हुए न्यायालय उठने तक का कारावास एवं 300/- 300/-रू. के अर्थदण्ड  से दण्डित किया गया।

[URIS id=12776]

Related Articles

Back to top button