मध्यप्रदेश

बोलेरो के खिड़की का सीसा तोड़कर बदमाशों ने पार किए पांच लाख रुपये।

बोलेरो के खिड़की का सीसा तोड़कर बदमाशों ने पार किए पांच लाख रुपये।

शहर के स्टेट बैंक मुख्य शाखा के पास की घटना – बैंक से पैसे निकालने के बाद बोलेरो में पैसे रखकर महिला बेटे के साथ चली गई थी फर्नीचर खरीदने

-बैंक से ही रैकी कर रहे थे बदमाश, सीसीटीवी में कैद हुआ आरोपी, पुलिस पहचान में जुटी

-अज्ञात आरोपी के विरुद्ध कोतवाली पुलिस ने दर्ज किया अपराध

पोल खोल सीधी। शहर के भारतीय स्टेट बैंक मुख्य शाखा के पास से बोलेरो के खिड़की का कांच तोड़कर अज्ञात बदमाशों ने झोले में रखे पांच लाख रुपये पार कर दिये। कुछ ही देर पहले महिला ने बैंक से राशि निकाली थी और एक झोले में बोलेरो के अंदर रखकर अपने बेटे के साथ दुकान में फर्नीचर खरीदने चली गई थी, वहां से वापस लौटकर देखा तो बोलेरो का कांच टूटा हुआ था और अंदर पैसे से भरा झोला गायब था। इतनी बड़ी रकम गायब देख महिला के होस उड़ गए और पीडि़ता द्वारा मामले की शिकायत सिटी कोतवाली में की गई। कोतवाली पुलिस ने अज्ञात आरोपियों के विरूद्ध अपराध दर्ज कर लिया है।
बताया गया की शहर के नजदीकी गांव जमोड़ी सेंगरान निवासी किरण सिंह सेंगर पति स्व.दिनेश सिंह ५४ वर्ष सोमवार की दोपहर करीब २ बजे अपने बेटे विक्रम सिंह सेंगर के साथ एसबीआई मेन ब्रांच में पैसे निकालने गई थी। बैंक से पांच लाख रुपये निकालने के बाद झोले में रखकर अपनी बोलेरो में रख दिये, बैंक से कुछ ही दूरी पर जाकर अपरान्ह करीब ३ बजे बोलेरो खड़ी करते हुए मां-बेटे कुछ फर्नीचर की सामग्री खरीदने दुकान में चले गए और रुपये से भरा झोला बोलेरो में ही छोड़ दिया। कुछ ही देर में फर्नीचर की खरीददारी कर वापस लौटे तो बोलेरो के खिड़की का सीसा टूटा था और अंदर झोले में रखे पांच लाख रुपये गायब थे।

आरोपी कर रहे थे बैंक से ही रैकी-
घटना की शिकायत के बाद जब पुलिस ने पड़ताल शुरू की तो सीसीटीवी में फुटेज देखने पर पता चला की आरोपी द्वारा बैंक के अंदर से ही रैकी की जा रही थी, जब महिला अपने बेटे के साथ पैसे निकालकर बैंक से निकली तो बाइक से आरोपी द्वारा उसका पीछा किया गया। फर्नीचर की दुकान के सामने जब बोलेरो खड़ा कर मां-बेटे दुकान के अंदर चले गए तो आरोपी द्वारा बोलेरो का सीसा तोड़कर पांच लाख रुपये से भरा थैला पार कर दिया गया।

मां बेटे की शादी के लिए पैसे निकालने गई थी –
बताया गया की पीडि़ता किरण सिंह पेशे से शिक्षक हैं और वह शासकीय हायर सेकंडरी स्कूल बंजारी में पदस्थ हैं। बैंक से इतनी बड़ी राशि उन्होंने बेटे की शादी के लिए निकाली थी, बेटे का तिलकोत्सव समारोह १७ फरवरी व विवाह २२ फरवरी को निर्धारित है।

शहर मे लगे कई कैमरों में कैद हुआ बदमाश:-
पुलिस की माने तो घटना मेें दो आरोपी शामिल थे, जिसमें बाइक चलाने वाला हेलमेट लगाए था, जबकि पीछे बैठा व्यक्ति हेलमेट नहीं लगाया था। दोनो ही आरोपी शहर में लगे कई सीसीटीवी कैमरों में कैद हुआ है, जिससे उसका भागने का रूट भी क्लीयर हो गया है। पुलिस पहचान में जुटी हुई है।

पांच माह में हुई तीसरी घटना:-
भारतीय स्टेट बैंक की मुख्य शाखा के अंदर से रैकी कर बाजार क्षेत्र में रुपये पार करने की पांच माह में यह तीसरी घटना है। इसके पहले सितंबर माह में सरस्वती विद्यालय के शिक्षक के ३० हजार रुपये पार कर दिये गए थे, उसके बाद एक उपभोक्ता के पचास हजार रुपये पार कर दिये गए और अब महिला शिक्षक के पांच लाख रुपये पार कर दिये गए हैं। सभी घटनाओं में बैंक के अंदर से ही बदमाशों द्वारा रैकी शुरू की गई थी। इधर बैंक प्रबंधन द्वारा सुरक्षा संबंधी कोई उपाय नहीं किये जा रहे हैं। सीसीटीवी कैमरों की क्वालिटी और लगाने का एंगल भी सही नहीं माना जा रहा है, जिससे बैंक के सीसीटीवी कैमरों से आरोपियों की पहचान करने में पुलिस को मदद भी नहीं मिल पाती।

पड़ताल जारी है :-
घटना में दो आरोपी शामिल हैं, जिसमें एक व्यक्ति हेलमेट लगाए था, जबकि एक बिना हेलमेट का था, आरोपी सीसीटीवी कैमरे में कैद हुए हैं, जिसके आधार पर उनकी पहचान व रूट क्लीयर किया जा रहा है। शीघ्र ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
योगेश मिश्रा,
थाना प्रभारी सिटी कोतवाली सीधी

[URIS id=12776]

Related Articles

Back to top button