FEATUREDउत्तर प्रदेशसोनभद्र

Sonebhadra: जिला सँयुक्त चिकित्सालय में दलालो का बोल बाला, सीएमएस को क्यो नही है जानकारी

 

जिला अस्पताल से मरीज को लेकर जाता एक निजी एम्बुलेंस वीडियो वायरल

अभी कुछ दिन पूर्व फर्जी मेडिकल में नाम पर दो डाक्टर जेल जा चुके हैं। इसके बाद भी वहां किसी को नही लग रहा है, डर

पोल खोल सोनभद्र

(दिनेश पाण्डेय)

जिला अस्पताल बेखौफ होकर दलालों के बंधन में बधा हुआ है। यहाँ आने वाले गरीब मरीजों को बेखौफ दलाल कम खर्च की बात करके अपने निजी हॉस्पिटल में लेजाते है। और इस पर अंकुश लगाने के बजाय जिला अस्पताल प्रशासन जाँच के नाम पर मामले को ठंडे बस्ते में डाल देता है।वही बगल में चौकी भी है उसके बाद भी नही लगता है डर निजी अस्पताल का दलाल जिला अस्पताल में अच्छे इलाज का झांसा लेकर मरीज को अपने साथ ले गया।

मरीज जैसे ही आते हैं हॉस्पिटल के कर्मचारी फोन करके बुला लेते हैं जिससे अस्पताल में कुकुरमुत्तों की तरह दलाल अस्पताल के अंदर बाहर करने लगते हैं। मरीज को उतारने से लेकर उसे भर्ती कराने में मदद भी करते हैं। इसके बाद परिजनों को जिला अस्पताल में सही इलाज न होने और निजी अस्पताल में अच्छे इलाज का झांसा लेकर ये मरीज को अपने साथ ले जाते हैं। जिला अस्पताल गेट से एक निजी हॉस्पिटल के देव पुत्र लिखे एम्बुलेंस में बैठकर ले जाया गया लेकिन अब तक इस पूरे मामले में ना ही जिला अस्पताल एक्शन लिया ना ही चौकी के द्वारा कोई कार्यवाही की गई।

दलालों की सक्रियता आये दिन तेजी से बढ़ रहा है लेकिन उदासीन रवैये से गरीब मरीज दलालों के चंगुल में फंसकर इलाज के नाम पर निजी अस्पताल में मोटी रकम चुकाने को मजबूर होते हैं।वही पूर्व सीएमएस रहे वो भी बड़े बड़े दावे करते रहे लेकिन उनके ही कर्मचारी जब भ्र्ष्ट है तो दूसरे को कैसे सबक सिखाएंगे।वही ताजा मामला सोमवार का है।वही सीएमएस से बात हुई सेल फोन पर तो उन्होंने बताया कि हमे ऐसा कोई मामला नही पता है आया होगा कोई प्राइवेट अपना मरीज लेने हम मीटिंग में है,आखिर साहब को क्यो नही पता है कि मरीज उनके हॉस्पिटल से कहा गया है बहुत गम्भीर बात है

[URIS id=12776]

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button

Adblock Detected

Allow me