FEATUREDउत्तर प्रदेशसोनभद्र

Sonebhadra: ग्राम समाधान का निस्तारण के लिए जिलाधिकारी पहुंचे जुगैल

 

लोगों की समस्याओं के निस्तारण गांव में ही करने का जिलाधिकारी सोनभद्र चंद्र विजय सिंह का अभियान अब धीरे-धीरे व्यापक रूप लेने लगा है।

पोल खोल सोनभद्र

(दिनेश पाण्डेय)

ग्राम पंचायत जुगैल में जिलाधिकारी ने लोगों की समस्याएं सुनी 500 से अधिक लोगों ने ग्राम समाधान दिवस में प्रतिभाग किया तथा गांव के लोगों ने जिलाधिकारी को अपने बीच पाकर प्रफुल्लित हो उठे। उन्होंने जिलाधिकारी के समक्ष ग्राम की मूल समस्याएं उठाई। ग्राम पंचायत में नेटवर्क की समस्या पर जिलाधिकारी ने आश्वासन दिया कि बहुत जल्द नेटवर्क की व्यवस्था कराई जाएगी। ग्राम पंचायत के लोगों ने राशन के वितरण पर गांव में राशन लेने के लिए बहुत दूर जाना पड़ता है।

इस पर तत्काल उप जिला अधिकारी को निर्देशित किए की राशन की दुकान को मैप कराते हुए नजदीक कराने की व्यवस्था सुनिश्चित कराएं। गांव में पेयजल में आयरन की मात्रा अधिक होने पर गांव आयरन रिमूवल किट वितरण का निर्देश दिया गया। जमीन के पट्टे के संबंध में लोगो ने शिकायत की इस पर निर्देशित किया गया की जो जमीन ग्राम समाज की है तथा सीज की गई हैं उन जमीनों को पट्टा करने का निर्देश दिया गया। जिलाधिकारी ने ग्राम समाधान दिवस में आए सभी लोगों को कंबल वितरित कर लोगों को स्वास्थ्य सुविधाएं लेने की अपील की।महिलाएं और बच्चो को टीकाकरण के लिए भी प्रोत्साहित किया।

जिलाधिकारी ने गांव में लोगों को जागरूक करने के लिए जागरूकता अभियान चलाए जाने का भी निर्देश दिया। ग्राम समाधान दिवस के उपरांत जिलाधिकारी ग्राम पंचायत निधि से किए गए स्कूल कायाकल्प के कार्य का निरीक्षण किया। अमृत सरोवर तालाब का निरीक्षण किया गया। जनपद के 32 बड़े गांव में स्वच्छ भारत मिशन फेज 2 के अंतर्गत हो रहे ओ डी एफ प्लस के कार्य के सभी कंपोनेंट का निरीक्षण किया। ग्राम पंचायत में कूड़ा प्रबंधन केंद्र (आरआरसी सेंटर) के निरीक्षण में उन्होंने निर्देशित किया कि कचरा प्रबंधन की बेहतर व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाय। हैंडपंप पर निर्मित सोक पीट की गुणवत्ता का विशेष ध्यान देने हेतु निर्देशित किया।

ग्राम पंचायत में निर्मित हो रहे प्लास्टिक कचरा पात्र का भी निरीक्षण किया गया तथा निर्देशित किया कि किसी भी प्रकार से गुणवत्ता में कोई समझौता न किया जाए। अगर कार्य में लापरवाही किया जाता है तो तत्काल कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी। जनपद स्तर पर सत्यापन के लिए प्लान बनाने हेतु डीपीसी स्वच्छ भारत मिशन को निर्देशित किया गया।

गांव में बनाई जा रही है सोक पीट, कचरा पात्र, प्लास्टिक बैंक, कंपोस्ट पीट, इत्यादि का जियो फोटो के साथ डिजिटल डायरी बनाई जाय। अक्षांतर और देशांतर की सूचना लेते हुए सभी का सत्यापन शत-प्रतिशत सुनिश्चित कराए जाने का निर्देश दिया गया। ग्राम समाधान दिवस एवं सत्यापन के समय ग्राम प्रधान जुगैल, सचिव, सहायक विकास अधिकारी अजय सिंह, खंड विकास अधिकारी मनीष मिश्र, डीपीसी अनिल केशरी,जिला पंचायत राज अधिकारी विशाल सिंह, उप जिलाधिकारी राजेश कुमार सिंह इत्यादि उपस्थित रहे।

[URIS id=12776]

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button